डिजिटल इंडिया को एक नए स्तर पर ले जाने के मकसद से केंद्र सरकार ने नई घोषणा की है. दूरसंचार मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा देश की सभी ढाई लाख ग्राम पंचायतों को दिसंबर 2018 तक इंटरनेट से जोड़ दिया जाएगा. इनमें से 1 लाख ग्राम पंचायतों को इस महीने के अंत तक जोड़ लिया जाएगा.

सिन्हा ने लोकसभा में कहा कि भारतनेट प्रोजेक्ट का मकसद भारत में नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण करना है जिससे हर ग्राम पंचायत में 100 Mbps की ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी को उपलब्ध कराया जा सके.

Source: Indian Express

उन्होंने कहा कि हर ग्राम पंचायत में वाई-फाई हॉटस्पॉट बनाया जाएगा और इस मामले में सूचना प्रसारण मंत्रालय पहले ही हामी भर चुका है. इस प्रोजेक्ट के तहत फ़ेज-1 मे एक लाख ग्राम पंचायतों को मार्च 2017 तक इंटरनेट से जोड़ा जाएगा. वहीं बाकी ग्राम पंचायतों की कनेक्टिविटी को दिसंबर 2018 तक पूरा कर लिया जाएगा.

सरकार का प्लान है कि ऑप्टिकल फाइबर केबल नेटवर्क लगने के बाद देश के हर गांव में दो वाई-फाई हॉटस्पॉट का निर्माण किया जाएगा. सिन्हा ने कहा कि उन्होंने इस प्रोजेक्ट में देरी के कारणों की पहचान कर ली है और इन्हें ठीक कर लिया गया है.

Source: bgr.in

उन्होंने कहा कि USOF के अंतर्गत कई प्रोजेक्ट्स को शुरु किया जाएगा जिनमें लेफ्ट विचारधारा वाले क्षेत्रों में मोबाइल कनेक्टीविटी भी शामिल है. वहीं नॉर्थ ईस्ट क्षेत्र के लिए भी एक टेलीकॉम डेवलेपमेंट प्लान की योजना बनाई जा रही है. इस प्रोजेक्ट के बाद नॉर्थ ईस्ट के 8621 गांवों को मोबाइल कनेक्टिविटी से जोड़ा जाएगा.