मृत्यु एक शाश्वत सत्य है और मौत को डेढ़ घंटों के अंदर 30 बार हरा देना किसी अद्भुत चमत्कार से कम नहीं है, लेकिन रूस के एक शख़्स के साथ ऐसी ही हैरतअंगेज़ घटना घटी है. रूस के मॉस्को में रहने वाले वैलियंत खितार तारीयेवा आम दिनों की तरह ही अपने घर पर थे. एक रोज़ उन्हें दिल का दौरा पड़ा और उन्हें फ़ौरन अस्पताल ले जाया गया.

जब तक 55 साल के खितार अस्पताल पहुंच पाते, वो पहले ही कोमा में जा चुके थे. डॉक्टरों ने अगले डेढ़ घंटे के अंदर इस शख़्स को बचाने की भरपूर कोशिशें की. इस दौरान खितार 30 बार क्लिनिकली डेड हो चुके थे. डॉक्टरों का कहना था कि उस छोटे से अंतराल में 30 बार इस दुनिया में वापस आना अद्भुत है और ये शायद एक नया रिकॉर्ड भी हो सकता है.

खितार के मुताबिक, 'मुझे लगा कि मैं एक सपने में हूं और मैं कहीं जाना चाहता हूं, लेकिन किसी ने मेरा हाथ पकड़ा और कहा अभी समय नहीं हुआ है. मैं अपने डॉक्टर्स को अपने दूसरे माता-पिता मानता हूं, क्योंकि उन्होंने ही मुझे दूसरा जीवन दिया है. ये अद्भुत है कि मैं अब भी ज़िंदा हूं'.

गौरतलब है कि दिल के रुकने के कई मिनटों बाद भी उसे वापस सामान्य अवस्था में ला पाना संभव होता है. डॉक्टरों को सलाह दी जाती है कि उन्हें किसी आदमी के दिल की धड़कन रुक जाने के बाद भी कई मिनटों तक प्रयास करने चाहिए.

Source: Unilad