'आप भले ही अपनी ज़िंदगी के सबसे निचले स्तर और खराब दौर से गुज़र रहे हों, लेकिन थोड़ी सी कड़ी मेहनत और दृढ़ निश्चय के साथ ही आप परिस्थितियों को बदल सकते हैं और अपने सपनों को पूरा कर सकते हैं.'

सुनने में ये भले ही बेहद Cliche लगे लेकिन सच्चाई यही है कि विरले लोग ही ऐसा कर पाते हैं. सैम रोएन एक ऐसे ही व्यक्ति हैं और उन्होंने इस बात को केवल कहा ही नहीं है, बल्कि उसे कर के भी दिखाया है.

सैम ने 2008 में एक रियैल्टी टीवी शो 'द बिगेस्ट लूज़र' में हिस्सा लिया था. इस शो में 12 हफ़्तों के अंदर भारी शरीर वाले लोगों को अपना वज़न कम करना होता है. जो व्यक्ति सबसे ज़्यादा वज़न घटाता है, उसे शो का विजेता घोषित किया जाता है.

सैम की उम्र उस समय 19 साल थी, वज़न 154 किलो था. लेकिन शो के अंत तक वो हैरतअंगेज़ तौर पर 71 किलो वज़न कम कर चुके थे. दस साल बाद, 29 वर्षीय सैम फ़ायरमैन बन चुके हैं और उनकी कद काठी को देखकर लगता है कि शो के बाद भी उन्होंने बॉडीबिल्डिंग जारी रखी है.

अपनी Before-After तस्वीर शेयर करते हुए सैम ने एक प्रेरित कर देने वाला पोस्ट लिखा है. सैम के लिए एक मोटे लड़के से लेकर शानदार फ़िज़ीक तक का सफ़र बेहद यादगार रहा है. उनकी प्यार की तलाश भी पूरी हो चुकी है और वो फ़ायरफ़ाइटर्स कैलेंडर में बतौर मॉडल भी नज़र आ चुके हैं. वो 2008 में इस शो के तीसरे सीज़न के विजेता थे.

154 किलो का भारी-भरकम ये सफ़र.

83 किलो पर जाकर ख़त्म हुआ था, मतलब महज 12 हफ़्तों में सैम ने हैरतअंगेज़ तरीके से 71 किलो वज़न घटाया था.

सैम ने इस शो के बाद भी हेल्दी लाइफ़स्टाइल को अपनाए रखा.

सैम के मुताबिक, 'मुझे एक्सरसाइज़ करने का नशा हो चुका है. मुझे अपने भाई के साथ रनिंग करना और वर्कआउट करना बेहद पसंद है'.

सैम का सपना था कि वो एक फ़ायरफ़ाइटर बने और उन्होंने इसमें सफ़लता भी हासिल की.

वो फ़ायरफ़ाइटर्स कैलेंडर में बतौर मॉडल फ़ोटोशूट भी करा चुके हैं.

सैम अपनी गर्लफ़्रेंड डेनियला के साथ सगाई भी कर चुके हैं

शानदार बॉडी होने के बावजूद भी सैम को समंदर किनारे या पब्लिक प्लेस में अपनी शर्ट उतारने में हिचक महसूस होती है.

सैम की कहानी बेहद प्रेरणादायक है और ये साबित करता है कि कड़ी मेहनत और डेडीकेशन के साथ न केवल अपने शरीर, बल्कि अपनी पूरी ज़िंदगी का कायाकल्प किया जा सकता है.

Source: Bored Panda