अक्सर भूख लगने पर केले को एक बढ़िया विकल्प माना जाता है. स्वास्थ्य की दृष्टि से बेहतरीन इन केलों में कई पौष्टिक तत्व भी पाए जाते हैं. शायद यही कारण है कि देश के लाखों बैचलर्स नौकरी या पढ़ाई के चलते घर से दूर होने पर, इसे भूख मिटाने का एक असरदार ज़रिया मानते हैं.

अब अपनी कई खासियतों के बाद, केले की अद्भुत क्षमताओं को और विस्तार दिया जा रहा है. वैज्ञानिकों ने एक क्रांतिकारी कदम उठाते हुए एक ऐसे सुपर केले का निर्माण किया है जो विटामिन ए से भरपूर होगा.

Source: Huffpost

गौरतलब है कि विटामिन ए की कमी से हर साल विकासशील देशों में 7 लाख 50 हज़ार बच्चों की मौत हो जाती है. विटामिन ए की कमी से आंखों की रोशनी भी जा सकती है और कई इंफ़ेक्शंस और बीमारियों का खतरा बराबर बना रहता है. क्वींसलैंड यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्नोलॉजी के रिसर्चर्स के मुताबिक, वे पिछले दस सालों से Biofortified केलों का निर्माण कर रहे हैं. इस रिसर्च को बिल गेट्स और मेलिना गेट्स फ़ाउंडेशन से 5.9 मिलियन पाउंड की फंडिंग मिल रही है.

Source: cdn

Papua New Guinea में पाए गए कुछ खास तरह के केलों में विटामिन ए की अच्छी मात्रा पाई जाती है, लेकिन ये केले केवल छोटी संख्या में ही पैदा होते हैं. इन केलों की प्रजाति के जीन से एक खास तरह के हाइब्रिड केलों का निर्माण किया जाएगा. माना जा रहा है कि सामान्य Cavendish केलों और इन सुपर केलों का हाइब्रिड तैयार करने की संभावना ज़्यादा है. माना जा रहा है कि इन केलों का रंग संतरी होगा.

Source: all-creatures

प्रोफ़ेसर जेम्स के मुताबिक, 'हम इन केलों में विटामिन ए के अपने लक्ष्य से चार गुना विटामिन ए प्राप्त कर रहे हैं. ज़ाहिर है, हम इन परिणामों से काफ़ी खुश हैं.'

वैज्ञानिक अब अपने इस प्रयोग को दुनिया की उन जगहों पर इस्तेमाल करना चाहते हैं जहां विटामिन ए की कमी से भारी संख्या में लोग प्रभावित हैं. इन सुपर केलों के जीन्स को टेस्ट ट्यूब में डाल कर युगांडा ले जाया जा रहा है. केलों को पका कर खाना यूं भी युगांडा के कल्चर में शुमार है.

Source: media-npr

गौरतलब है अफ़्रीका के बच्चों में 2006 से 2011 के बीच विटामिन ए की कमी का स्तर 20 प्रतिशत से 38 प्रतिशत हो गया था. वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि 2021 तक आते-आते युगांडा के किसान अपने खेतों में इन सुपर केलों का निर्माण करने लगेंगे.

Source: Metro