संडे वाले दिन आपने अख़बार के क्लासीफाइड पेज पर वर-वधु की तलाश वाला विज्ञापन, तो देखा ही होगा. इसमें कोई पढ़े-लिखे दूल्हे की तलाश करता है, तो किसी को एक सुन्दर वधु की तलाश होती है. ऐसा ही एक विज्ञापन भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के मुख्यपत्र गणशक्ति में प्रकाशित हुआ है, जिसमें एक वर की तलाश की जा रही है.

Source: faishonlady

इस विज्ञापन के मुताबिक 26 साल की एम.ए. पास लड़की के लिए वामपंथी वर चाहिए. इस विज्ञापन को लड़की के भाई दीप्तानुज दासगुप्ता ने प्रकाशित करवाया, जो खुद भी इस विचारधारा के काफ़ी करीब हैं.

इस बारे में दीप्तानुज दासगुप्ता का कहना है कि 'वामपंथी विचारधरा के लोग संकीर्ण मानसिकता के नहीं होते. कला, विज्ञान, राजनीति समेत जीवन के हर क्षेत्र में उनकी दिलचस्पी होती है. वो हमेशा कुछ बड़ा सोचते हैं.'

दीप्तानुज दासगुप्ता आगे कहते हैं कि 'हमारे घर का वातावरण काफ़ी खुले विचारों का है, जहां सबका सम्मान किया जाता है. ऐसे में हम अपनी बहन के लिए ऐसा ही लड़का चाहते हैं, जो ख़ुद को वामपंथी बताने में गर्व महसूस करता हो.'

लोगों की दिलचस्पी के साथ ही दासगुप्ता का परिवार इस बात से नाराज़ है कि विज्ञापन में दिए गए नंबर पर लोग उन्हें भद्दे कमेंट्स भेज रहे हैं.

Source: bbc