शाख़ों से टूट जाएं वो पत्ते नहीं हैं हम,

आंधी से कोई कह दे कि औकात में रहे...

अगर आप संगीत और शेर-शायरी के दीवाने हैं तो आपको समझ आ ही गया होगा कि यहां हम किस शायर की बात करने जा रहे हैं. जी हां, इन दो लाइन्स को लिखने वाले मशहूर शायर हैं राहत इंदौरी साब. राहत इंदौरी हिंदी फ़िल्मों के वो गीतकार उर्दू भाषा के वो प्रसिद्ध शायर हैं जिनको परिचय की आवश्यकता ही नहीं हैं. रूह तक पहुंचने वाले इनके गीत और साधारण सी उर्दू भाषा में इनके शेर हिंदी बोलने वालों को भी आसानी से समझ आ जाते हैं.

इसलिए दोस्तों आज हम यहां पर इनकी कुछ प्रसिद्ध शायरियों को आपके लिए पेश कर रहे हैं.

तो दोस्तों, आपको ये शेर कैसे लगे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके ज़रूर बताइयेगा और अपने करीबियों के साथ भी इन्हें शेयर करिये.

Designed By: Aakansha Pushp