योगी सरकार के श्रीराम की मूर्ति बनवाने के ऐलान के बाद शिया वक्फ़ बोर्ड एक नए प्रस्ताव के साथ सामने आया है. अयोध्या में बनने जा रही भगवान श्रीराम की मूर्ति में लगे तरकश के लिए शिया वक्फ बोर्ड चांदी के दस तीर देगा. वक्फ बोर्ड ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर इस पहल से अवगत भी कराया है. इससे पहले वक्फ बोर्ड अयोध्या में बनने वाली मूर्ति में सहयोग की बात भी कर चुका है.

इस पत्र में वक्फ़ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी ने लिखा कि 'भगवान राम की एशिया की सबसे बड़ी मूर्ति की अगर अयोध्या में स्थापित की जाती है, तो अयोध्या के साथ-साथ पूरे यूपी का गौरव बढ़ेगा.' उन्होंने कहा कि अयोध्या एक सांस्कृतिक शहर है, जिसका विकास किया जाना जरूरी है. अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम राम की मूर्ति स्थापित होती है, तो वक्फ बोर्ड की ओर से मूर्ति में लगे तरकश में रखने के लिए 10 (दस) चांदी के तीर भेंट किये जायेंगे.

Source: ndtv

गौरतलब है कि अयोध्या में भगवान राम की 100 मीटर की प्रतिमा बनाई जानी है. इसके लिए यूपी शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी के सामने प्रस्ताव रखा गया है. उन्होंने लिखा, 'जिस तरह से मर्यादा पुरुषोत्तम राम ने बुराई के खिलाफ युद्ध किया था और राक्षसों का अपने बाणों से संहार किया था. इसी तरह हम चाहते हैं कि भेंट किए जाने वाले ये तीर आंतकवाद के खिलाफ संघर्ष के एक प्रतीक माने जाएं जिससे सभी धर्मों के लोग भारत में शांति से रह सकें.'

Source: IndiaToday

पत्र में लिखा है कि तीर देने की पेशकश विशेष समुदाय की तरफ़ से ही आई है और इसके लिए शिया वक्फ बोर्ड उनको पैसा नहीं दे रहा है. अगर सीएम को भेजे गए प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया जाता है तो हम तीर बनाने के ऑर्डर दे देंगे.

Source: NDTV