टीम इंडिया के स्टार ऑल राउंडर रवींद्र जडेजा आज अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में खासी पहचान बना चुके हैं. जडेजा इस समय दुनिया के टॉप ऑल राउंडर्स में से एक हैं. बॉलिंग, बैटिंग और फ़ील्डिंग तीनों डिपार्टमेंट्स में जडेजा दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में शुमार होते हैं. जब वो फ़ील्डिंग कर रहे होते हैं और बॉल उनकी ओर जा रही हो, तो बैट्समैन भूलकर भी रन लेने की नहीं सोचता क्योंकि जडेजा का निशाना इतना ज़बरदस्त है कि बॉल सीधे गिल्लियां बिखेर देती है.

Source: quirkybyte

पिछले कुछ सालों से जडेजा 'सर रवींद्र जडेजा' के नाम से मशहूर हो गए हैं. अब तो उनके प्रशंसक भी उन्हें सर रवींद्र जडेजा के नाम से बुलाने लगे हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि जडेजा कैसे सर रवींद्र जडेजा बन गए? अगर नहीं तो हम आपको बताते हैं कि इसके पीछे मुख्य कारण क्या है.

Source: dnaindia

इसके पीछे किसी और का नहीं बल्कि जडेजा के सबसे अज़ीज़ दोस्त और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का हाथ है. दरअसल, धोनी ने एक मैच के दौरान जडेजा को सर (Head) कह दिया था, जिसे लोगों ने Sir समझ लिया था. धोनी ने इस बात पर सफ़ाई भी दी थी कि उन्होंने किसी बात को लेकर जडेजा को सर (Head) कहा था Sir नहीं.

Source: munsifdaily

जब Sir को लेकर लोगों की प्रतिक्रिया बढ़ने लगी, तो धोनी ने ख़ुद ही ढेर सारे ट्वीट करने शुरू कर दिए. इसके बाद तो धोनी ने जडेजा को लेकर ट्वीट्स की बौछार कर दी और वो ट्विटर पर 'सर रवींद्र जडेजा' के नाम से मशहूर हो गए.

Source: espncricinfo

अब आप ही देखिये धोनी ने जडेजा को लेकर कैसे-कैसे मज़ेदार ट्वीट्स किये थे:

1. भगवान को लगा कि रजनी सर अब बुज़ुर्ग हो गए हैं, तो उन्होंने सर रवींद्र जडेजा को बना दिया.

2. सर रवींद्र जडेजा ग्राउंड पर प्रैक्टिस करने नहीं जाते, बल्कि ग्राउंड ख़ुद उनके पास चलकर आता है.

3. अगर आप रविंद्र जडेजा को 1 बॉल में 2 रन बनाने को दें, तो उनके मैच जिताने के बाद भी एक बॉल शेष रह जाती है.

4. सर जडेजा जब जीप चलाते हैं, तो जीप खड़ी रहती है, लेकिन सड़क चल रही होती है और सर जडेजा जब बैटिंग करने जाते हैं, तो पवेलियन ख़ुद विकेट तक चलकर जाता है.

5. सर रवींद्र जडेजा कैच लेने के लिए भागते नहीं, बल्कि बॉल उनको ढूंढते हुए उनके हाथों में गिर जाती है.

6. सर जडेजा जब बच्चे थे, तो उन्होंने एक पहाड़ को क्रिकेट खेलने के लिए चुना, जिसे आज हम 'माउन्ट एवेरेस्ट' के नाम से जानते हैं.

इन सब जोक्स के बावजूद 'सर रवींद्र जडेजा' क्रिकेट में अपने स्टाइल के लिए भी जाने जाते हैं. मैच जिताने के बाद मूंछ पर ताव देना हो या फिर 50 जड़ने के बाद बैट को हवा में तलवार की तरह लहराना, सर जडेजा हर फ़न में माहिर हैं. धोनी, विराट और जडेजा जब भी एक साथ मैदान पर होते हैं, टीम का माहौल देखने लायक होता है.