उत्तर प्रदेश के सीतापुर ज़िले में स्वच्छ भारत अभियान के तहत सैंकड़ों शौचालय बनवाए गए हैं. मगर फिर भी लोग इनका इस्तेमाल न कर खुले में शौच करने जाते हैं. उन्हें टॉयलेट का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित करने के लिए डीएम शीतल वर्मा ने एक अनोखा फ़रमान जारी किया है. इसमें कहा गया है कि जो सरकारी कर्मचारी अपने शौचालय के साथ सेल्फ़ी खींचकर अपने सीनयर को नहीं भेजेगा, उसका वेतन रोक लिया जाएगा.

दरअसल, सीतापुर की डीएम शीतल वर्मा पिछले कुछ दिनों से अपने ज़िले में स्वच्छ भारत अभियान के अपेक्षा अनुरूप परिणाम न मिलने से परेशान थीं. अपनी इस परेशानी का हल निकालते हुए उन्होंने प्रदेश के सभी सरकारी कर्मचारियों को ये अनोखा फ़रमान जारी किया है.

इस पर अमल करते हुए ज़िले के बेसिक शिक्षा अधिकारी अजय कुमार ने इस संदर्भ में अपने विभाग में नोटिस जारी कर दिया. साथ ही उन्होंने शौचालय के नियमित इस्तेमाल का सुबूत अपने सीनियर के पास जमा कराने को कहा है. इस कार्य में किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नहीं करने की चेतावनी भी दी है.

इस आदेश के बारे में में बात करते हुए अधिकारियों ने कहा- ये कदम ज़िले में खुले में शौच करने वाले लोगों को शौचालय के इस्तेमाल करने लिए प्रेरित करने के लिए उठाया गया है. इन तस्वीरों को सभी ग्रामीण इलाकों में लोगों के साथ शेयर कर बताया जाएगा कि ज़िले के सारे सरकारी कर्मचारी शौचालय का प्रयोग कर रहे हैं.

Source: Aninews