15 जून 2001. इस तारीख को बॉलीवुड की सबसे ऐतिहासिक तारीख माना जाता है. आज ही के दिन 16 साल पहले सनी देओल की फ़िल्म 'गदर' और आमिर खान की फ़िल्म 'लगान' रिलीज़ हुई थी. आज भले ही बॉलीवुड के बड़े सितारे एक ही दिन अपनी फ़िल्म रिलीज़ से घबराते हों लेकिन लगभग डेढ़ दशक पहले इन दोनों सितारों ने ये जोखिम उठाया था और खास बात ये है कि दोनों ही फ़िल्मों ने ज़बरदस्त बिज़नेस भी किया. लगान को जहां बेस्ट विदेशी फ़िल्म के लिए ऑस्कर नामांकन मिला था, वहीं गदर ने उस समय गदर बिज़नेस कर बॉक्स ऑफ़िस के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए थे. जानिए सनी देओल की सबसे बड़ी सुपरहिट फ़िल्म से जुड़े ये खास किस्से:

Source: mouthshut

1. आमिर खान और सनी देओल की फ़िल्मों का तीन बार मुकाबला हुआ है. आज से 27 साल पहले भी आमिर खान और सनी देओल की फ़िल्म आमने-सामने हुई थी. 15 जून 1990 में आई सनी देओल की फ़िल्म 'घायल' और आमिर की फ़िल्म 'दिल' ने भी दोनों फ़िल्मी सितारों के करियर को एक नई उड़ान दी थी. वहीं 1996 में भी जून के महीने में ही सनी की फ़िल्म 'घातक' और आमिर की फ़िल्म 'राजा हिंदुस्तानी' रिलीज़ हुई थी और दोनों ही फ़िल्में इस बार भी सुपरहिट साबित हुई थी.

Source: filmstudiesforfree

2. ये फ़िल्म बूटा सिंह नाम के एक शख्स की ज़िंदगी से कुछ हद तक प्रेरित है. बूटा सिंह ब्रिटिश सेना में एक पूर्व सैनिक हैं, जो द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान बर्मा फ्रंट पर तैनात थे. उन्होंने भारत-पाक विभाजन के समय एक मुस्लिम महिला की मदद की थी और इस महिला से शादी भी रचा ली थी. हालांकि बाद में इस महिला को पाकिस्तान भेज दिया गया. अपनी पत्नी को पाने के लिए बूटा सिंह अनाधिकारिक तौर पर पाकिस्तान में घुस गए थे. बूटा जब अपनी पत्नी को लेने पहुंचे तो अपने घरवालों के ज़बरदस्त दबाव के सामने बूटा की पत्नी टूट गईं और उसने बूटा सिंह के साथ जाने से मना कर दिया. इस बात से आहत होकर बूटा ने एक ट्रेन के आगे छलांग लगाकर अपनी जान दे दी थी.

Source: postimg

3. 'गदर' अमीषा पटेल के करियर की दूसरी फ़िल्म थी. इस फ़िल्म से पहले वो सुपरहिट फ़िल्म 'कहो न प्यार है' में काम कर चुकी थी. इस फ़़िल्म की सफ़लता के बाद अमीषा सातवें आसमां पर थी. लेकिन दुर्भाग्यवश 'गदर' के बाद वे फिर कभी अपनी इस सफ़लता को दोहरा नहीं पाईं और एक गुमनाम अभिनेत्री बन कर रह गईं.

Source: Indiatvnews

4. 'गदर' की लोकप्रियता का आलम ये था कि पब्लिक डिमांड के चलते सुबह 6 बजे से थियेटर में इस फ़़िल्म के शो शुरु हो जाते थे. ऐसा इससे पहले किसी भी फ़िल्म के साथ नहीं हुआ था.

Source: townnews

5. 'गदर' सनी देओल के करियर की सबसे ज़्यादा कमाई करने वाली फ़िल्म है. फ़िल्म के निर्देशक अनिल शर्मा के अनुसार, 'गदर' ने 265 करोड़ का बिज़नेस किया था. उनका मानना है कि 'गदर' आज के ज़माने में 5000 करोड़ का बिजनेस कर सकती थी क्योंकि उस समय एक सामान्य टिकट की कीमत 25-30 रुपए होती थी. शायद यही कारण था कि उन्होंने 'बाहुबली' के रिकॉर्ड पर किसी तरह की हैरानगी नहीं जताई थी.

Source: mouthshut

6. फ़िल्म की शुरुआत में ट्रेन के सीक्वेंस को रियल टच देने के लिए पंजाब के अमृतसर स्टेशन को 1940 के दशक की तरह बनाया गया था.

Source: twimg

7. 'गदर', बॉलीवुड की सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर में शुमार है. ये हिंदुस्तान की सबसे ज़्यादा देखी जाने वाली फ़िल्म है. इस फ़िल्म को थियेटर में 5 करोड़ 5 लाख 73 हज़ार लोगों ने देखा था. कमाई के मामले में भी उस समय इस फ़िल्म ने, 'हम आपके हैं कौन' का सात साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया था.

Source: bollywoodbubble

8. अमीषा पटेल के रोल के लिए पहले काजोल के बारे में विचार किया गया था वहीं तारा सिंह के रोल के लिए गोविंदा पहली पसंद थे लेकिन फ़िल्म 'महाराजा' की असफ़लता के बाद अनिल शर्मा ने अपना विचार बदल दिया और इसी के बाद सनी देओल को इस ऐतिहासिक फ़िल्म के लिए साइन किया गया था.