दुनिया में कई लोग ऐसे हैं जो ऊंचाईयों के फोबिया यानि एक्रोफोबिया से ग्रस्त हैं. लेकिन दुनिया में कई ऐसे लोग भी हैं, जो सामान्य इंसानों को अपनी सीमाओं को तोड़ने और ऊंचाईयों से आगे जाने की प्रेरणा देते हैं.

ऐसे ही एक शख्स हैं लुकास इर्मलेर. लुकास दुनिया की सबसे ऊंची और खतरनाक जगहों को केवल एक रस्सी के सहारे पार करते हैं और स्लैकलाइन नाम की इस एक्टिविटी के जाने-माने चेहरे हैं.

यहां वे कनाडा के हनलैन फॉल्स पर आराम से चिल करते हुए. ऊंचाई 1316 फीट

2006 से ही लुकास प्रोफेशनल स्लैकलाइनिंग करते हैं और अपने कारनामों की वजह से गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दो बार दर्ज करा चुके हैं.

लुकास ने बताया कि कनाडा में स्थित ये जगह कई मायनों में एक नए अनुभव की तरह थी और इस शांत और सौम्य जगह पर एक पूरा हफ्ता बिताना, यहां पहुंचने में आई मुश्किलों से कहीं ज्यादा मायने रखता है और उन्होंने वहां काफी इंजॉय किया.

साल की शुरुआत में लुकास और सैमुएल वोलेरे ने खतरनाक ऊंचाई पर मौजूद रस्सी पर चढ़कर विश्व रिकॉर्ड बनाया था. इस रिकॉर्ड को उन्होंने 270 मीटर के अंतर से पछाड़ दिया था.

लुकास और सैमुएल ने स्विज़रलैंड में मौजूद माउंट पिलैट्स के आर-पार इस जानलेवा एक्टिविटी को अंजाम दिया था. यह समुद्र से 2000 मीटर की हैरतंगेज़ ऊंचाई पर मौजूद था. उन्होंने पिछले रिकॉर्ड को ध्वस्त करने में पहली बार में ही कामयाबी हासिल की थी.

हालांकि खराब मौसम ने इन जांबाज़ों के आगे जाने वाले रास्ते पर मुश्किलें खड़ी कर दीं और तेज हवाओं ने भी कठिनाइयों को बढ़ाया. हालांकि ये लोग इस खतरनाक रास्ते से निकलने के लिए 50 मिनटों तक का समय निर्धारित कर चुके थे.

लुकास मानते हैं कि अगर आप ठान लो, तो ज़िन्दगी में कुछ भी नामुमकिन नहीं. उनके इस जज़्बे को सलाम.

Source: The Mirror