आजकल जब भी आप टीवी पर कोई हिंदी मूवी चैनल लगाते हैं, तो उनमें अकसर साउथ इंडियन फ़िल्में ज़रूर देखने को मिल जाती हैं. इनके हिंदी वर्ज़न्स का अब कई चैनल्स वर्ल्ड वाइड टीवी प्रीमियर भी करने लगे हैं. साउथ इंडियन सिनेमा में आपको दो चीज़ें ज़रूर देखने को मिलती होंगी, पहली उनका माइंड ब्लोइंग एक्शन और दूसरा एक्ट्रेस की बॉडी को कैमरे के हर एंगल से दिखाने की कोशिश और फिर एक फुल ज़ूम उसकी नाभी पर.

Source: KollywoodToday

सही कह रहे हैं. ये सिर्फ़ हमने नहीं, साउथ इंडियन फ़िल्म्स देखने वाले हर दर्शक ने महसूस किया है कि इन फ़िल्मों में महिलाओं को हद से ज़्यादा Objectify किया जाता है. ख़ैर ये बात बॉलीवुड और भोजपुरी सिनेमा पर भी लागू होती है, लेकिन भोजपुरी सिनेमा में स्क्रिप्ट नाम की चीज़ कम ही इस्तेमाल की जाती है.

Source: worldcinemagallery

साउथ इंडियन मूवीज़ के लव सीन्स से लेकर इमोशनल सीन्स में आप इस बात को नोटिस कर सकते हैं. कुछ मूवीज़ में हीरो एक्ट्रेस की Navel पर गाना गाते और अंगूर या फिर सेब जैसे फल फेंकते भी नज़र आते हैं. अब सवाल ये उठता है कि आखिर इन फ़िल्मों का नाभी से इतना Obsession क्यों हैं?

Source: pinterest

थोड़ा सर खपाने पर हमने पाया कि दक्षिण भारत में महिलाओं की नाभी को कामुकता से जोड़कर देखा जाता है. इसकी आड़ में फ़िल्ममेकर्स और डायरेक्टर्स Sexual Act, Lust और प्यार दिखाने की कोशिश करते हैं. वजह है सेंसर बोर्ड, ऐसा करने से इनकी फ़िल्म को U/A सर्टिफ़िकेट मिल जाता है. जिसका सीधा मतलब ज़्यादा दर्शकों तक उनकी फ़िल्म की पहुंच. उनका मानना है कि ये Vulgar भी नहीं लगता.

Source: ILuvCinema

कुछ और खोजने पर हमें Quora पर भी इसका जवाब मिला. यहां बहुत से लोगों ने इसे लेकर अपने-अपने तर्क दिए हैं, जो काफ़ी मज़ेदार हैं. साउथ इंडियन इंडस्ट्री से ताल्लुक रखने वाले एक शख़्स हमसे सहमत नज़र आए.

Source: pinterest

वहीं एक का कहना है कि ऐसा सभी जगह होता है, लेकिन साउथ इंडियन फ़िल्मों में इसे कुछ ज़्यादा ही बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया जाता है.

Source: pinterest

यही नहीं सीन्स के अलावा एक एक्ट्रेस की ड्रेस भी इसी तरह डिज़ाइन की जाती है कि उसमें नाभी साफ़ दिखाई दे. कई साउथ इंडियन फ़िल्मों के पोस्टर में भी इसकी झलक नज़र आती है. एक्ट्रेस तापसी पन्नू तो इसे लेकर शिकायत भी कर चुकी हैं.

Source: deccanchronicle

इस ट्रेंड की शुरुआत करने का श्रेय जाता है साउथ इंडियन सिनेमा की सेक्स सायरन रहीं सिल्क स्मिता को. उनकी हर फ़िल्म में इस तरह के सीन्स ज़रूर रहते थे और मज़े की बात तो ये है कि उनके फैंस को ये ख़ूब भाता था. ये उनकी फ़िल्मों के हिट होने के सबसे बड़े कारणों में से एक था. यही वजह है कि इस पैंतरे को हर फ़िल्म निर्देशक इस्तेमाल करता दिखता है.

Source: Fashionscandal

ख़ैर अगर इस संदर्भ में आपका भी कोई तर्क हो, तो उसे आप कमेंट बॉक्स में हमसे शेयर कर सकते हैं.

This story was originally published at Scoopwhoop.