एड्स, मलेरिया और चिकनगुनिया की तरह आज हमारे देश को एक बीमारी लग है, जिसे कुछ नेताओं और लोगों ने देशभक्ति का अमलीजामा पहना दिया है. इसमें जैसे ही आप कोई सवाल करते हैं, आपको एंटी-नेशनल से ले कर देशद्रोही कह दिया जाता है. कुछ लोग तो आपको पाकिस्तान भेजने तक की मांग करने लगते हैं.

हालांकि इन सब के बीच सरकार कैसे बुनियादों मुद्दों से आपका ध्यान भटका देती है, आप समझ ही नहीं पाते. अब जैसे कुणाल कामरा को ही ले लीजिये, जो आसानी से आपको हंसाते हुए तथाकथित देशभक्तों की देशभक्ति की तह तक ले जा रहे हैं.

Source: kunalkamra