सनी लियॉन का नाम उन चंद हस्तियों में लिया जा सकता है, जो देश के आम से लेकर नामचीन लोगों के ढोंग को कई बार सामने लाने में कामयाब रही हैं, हाल ही में हुई एक और घटना ने एक बार फिर ये साबित किया है. दरअसल सनी लियॉन ने पिछले महीने जिस बच्ची को गोद लिया था, उसे उनसे पहले 11 दंपतियों ने अपनाने से इंकार कर दिया था. ये जानकारी बच्चों को गोद देने वाली चाइल्ड एडॉप्शन रिसोर्स एजेंसी (सीएआरए) ने उपलब्ध कराई है.

CARA एजेंसी के सीईओ, लेफ़्टिनेंट कर्नल दीपक कुमार ने बताया कि ज़्यादातर दंपत्ति बच्चे के रंग, चेहरे और बच्चे की मेडिकल हिस्ट्री को लेकर बेहद उत्सुक रहते हैं और ज़्यादातर इन्हीं वजहों से बच्चों को अपनाया या ठुकराया जाता है. लेकिन सनी और उनके पति डेनियल ने इन सब में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई.

Source: The Newsminute

सनी ने बच्ची के बैकग्राउंड, रंग, मेडिकल हिस्ट्री जैसी चीज़ों की परवाह न करते हुए उसे गोद लिया था. दीपक कुमार के मुताबिक, सनी ने अन्य दंपतियों की तरह ही लाइन में लगकर अपनी बारी आने का इंतज़ार किया और हम इस बात की इज्ज़त करते हैं कि उन्होंने नियमों को तोड़े बिना ही सारी औपचारिकताएं पूरी की.

सनी ने पिछले साल 30 सितंबर को CARA के वेब पोर्टल के ज़रिए बच्चे को गोद लेने के लिए आवेदन किया था. सनी के आवेदन के लगभग 9 महीनों बाद 21 जून को उन्हें इस बच्ची के बारे में बताया गया था.

Source: Indian Express

सीएआरए बच्चों को गोद देने वाली सर्वोच्च एजेंसी है और आमतौर पर कपल्स को बच्चे को अपनाने की मंज़ूरी देने के लिए 48 घंटों का समय दिया जाता है लेकिन सनी ने इसे लेकर अपनी सहमति अगले दिन ही दे दी थी. अनाथ बच्चों को अपनाना न केवल पर्यावरण और इंसान के प्रति संवेदनशीलता का प्रतीक है, बल्कि ये उन लोगों को भी जवाब है जो सनी के बीते प्रोफ़ेशन के चलते उन्हें निशाना बनाने की कोशिश करते रहते हैं.

Source: Indian Express