स्वीडन से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. स्थानीय स्वीडिश अखबारों के अनुसार एक महिला के साथ तीन लोगों ने गैंगरेप किया है. यही नहीं इन सिरफिरे लोगों ने फेसबुक लाइव का इस्तेमाल करते हुए इस घिनौनी हरकत को फेसबुक के एक ग्रुप पर भी पोस्ट कर दिया. गौरतलब है कि इस ग्रुप में 60,000 सदस्य हैं.

21 साल की जोसेफिन लुंडग्रेन ने जैसे ही इस वीडियो को फेसबुक ग्रुप पर देखा उसने तुरंत पुलिस को सूचना दे दी. रविवार की सुबह लगभग 8.30 बजे जब इस महिला ने अपने अकाउंट में लॉग इन किया तो एक ग्रुप में चल रही इस शर्मनाक घटना के बारे में उन्होंने फौरन पुलिस को बताया. रिपोर्ट्स के अनुसार, इस वीडियो में दिखाई दे रही महिला बेहोशी की हालत में थी.

रिपोर्ट के अनुसार, इस वीडियो के अंत में एक शख्स हंसते हुए महिला से कहता है कि तुम्हारा बलात्कार हो चुका है. इन लोगों की असंवेदनशीलता यही नहीं थमी और दूसरा शख्स इस वीडियो में ठहाका लगाते हुए कह रहा था कि तीन के बदले एक. लुंडग्रेन ने अखबार को बताया कि इस शख्स ने महिला के कपड़े भी फाड़ दिए थे.

फेसबुक लाइव का इन लोगों पर ऐसा जुनून सवार था कि एक वीडियो के बाद इन लोगों ने दूसरा वीडियो भी बनाना शुरु कर दिया. इस वीडियो में ये लोग इस महिला से जबरदस्ती ये कहलवाने की कोशिश कर रहे थे कि उसका रेप नहीं हुआ है. पुलिस जब इन लोगों के घर पहुंची, उस समय ये फेसबुक लाइव का दूसरा वीडियो चल रहा था. पुलिस ने तीनों लोगों को गिरफ्तार करते हुए कैमरा ऑफ कर दिया. पुलिस ने इस वीडियो की एक कॉपी भी हासिल कर ली है, वहीं महिला को अस्पताल ले जाया गया है.

Source: infowars

एक और शख्स जिसने इस वीडियो को लाइव देखा था उसने बताया कि एक लड़की कैमरे के सामने बैठी थी और जो शख्स इस वीडियो को बना रहा था, वह बार बार कोशिश कर रहा था कि वह रेप के आरोपों को झुठला दे. यह शख्स इस लड़की को काफी ज्यादा डरा रहा था और पूरी फिल्म के दौरान वह काफी हंस भी रहा था.

इस मामले में तीनों लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है और उनकी उम्र 19 से 25 के बीच बताई जा रही है. इन वीडियोज़ को फेसबुक से हटा लिया गया है, हालांकि इन वीडियोज़ को इंटरनेट से नहीं हटाया जा सका है. फेसबुक के एक प्रवक्ता ने इस हमले को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और एक संगीन जुर्म करार दिया. उन्होंने कहा कि हमारी टीम दिन-रात उन कटेंट्स पर काम करती है, जिन्हें फेसबुक यूज़र्स आपत्तिजनक बताते हैं, साथ ही फेसबुक कोई भी क्राइम होने की परिस्थिति में पुलिस के साथ पूरा सहयोग करता है.