सोशल मीडिया किसी हंसते-खेलते परिवार को कैसे तबाह कर सकता है, ये ख़बर उसका सबसे बड़ा उदारण है. पुणे का एक जोड़ा अपनी 4 साल की शादी के बाद काफ़ी खुशी से अपनी ज़िंदगी जी रहा था. किसी भी तरह की कोई कमी नहीं थी उनके जीवन में.

लेकिन एक दिन पति ने अपनी पत्नी का कत्ल किया और फिर खुद को फ़ांसी लगा ली. इन सब की वजह बना सोशल मीडिया.

Source: Reuters

दरअसल हुआ कुछ यूं कि शादी के 4 साल बाद भी इस कपल को कोई बच्चा नहीं हुआ था. डॉक्टर्स का इलाज चल रहा था. जल्द ही खुश खबरी इस दम्पति को मिल सकती थी. लेकिन पत्नी ने अपने हालात और मां न बन पाने का दर्द अपने दोस्त के साथ फ़ेसबुक पर शेयर किया.

लेकिन एक दिन इसकी ख़बर उसके पति को लगी. पति ने गुस्से में अपना आपा खो दिया और पत्नी को मौत के घाट उतार दिया और इस ज़लालत से बचने के लिए खुद को भी फ़ांसी लगा ली.

Source: NBT

लड़की के परिवार वाले दो दिन तक उनको खोजते रहे, लेकिन उनका कोई पता नहीं चला. परिवार पुलिस के पास पहुंचा और घर का दरवाजा तोड़ा गया. घर के भीतर दोनों की लाश पड़ी हुई थी और एक चिट्ठी वहां रखी थी, जिस पर लिखा था:

'हम एक शादीशुदा खुशहाल परिवार थे.'

Source: wordpress

इन चंद शब्दों में उनका सारा जीवन लिखा हुआ था. लेकिन उनके दर्द और प्यार के अंत की कहानी भी उसी में थी. आखिर कैसे थोड़ा सा गुस्सा और सोशल मीडिया पर हर चीज़ शेयर करने का चस्का एक प्यारे से परिवार के अंत की वजह बन गया.