भारत जैसे क्रिकेट प्रेमी देश में क्रिकेट को धर्म के तरह पूजा जाता है और खिलाड़ियों को भगवान तक का दर्जा दिया जाता है. आप सभी जानते ही होंगे कि क्रिकेट को जेंटलमैन गेम भी कहा जाता है. क्रिकेट के मैदान पर खिलाड़ी जिस तरह से छक्के-चौके मार कर लोगों का मनोरंजन करते हैं, क्रिकेट प्रेमी भी खिलाड़ियों को उतना ही प्यार करते हैं. खिलाड़ी चाहे पुराने दौर के हों या इस दौर के, क्रिकेट को हर कोई जेंटलमैन की तरह ही खेलना पसंद करता है. मैदान पर कभी-कभार गहमा-गहमी देखने को भी मिल जाती है. लेकिन अब भी क्रिकेट जेंटलमैन की तरह ही खेला जाता है.

आज हम आपके लिए क्रिकेट के मैदान से कुछ ऐसे यादगार पल लाये हैं जो ये दिखाते हैं कि क्रिकेट प्लेयर्स वाक़ई में जेंटलमैन होते हैं.

1. मार्क टेलर का साहसिक कदम

Source: sportskeeda

साल 1998 में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ खेले गए एक टेस्ट मैच के दौरान ऑस्ट्रेलिया के कप्तान मार्क टेलर दूसरे दिन का खेल ख़त्म होने के दौरान 334 रन पर नॉटआउट थे. लेकिन उन्होंने तीसरे दिन पारी घोषित कर दी, पारी घोषित करने के पीछे टेलर ने तर्क देते हुए कहा कि सर डॉन ब्रैडमैन का हाईस्ट स्कोर भी 334 रन ही था. मैं नहीं चाहता था कि उनसे ज्यादा रन बनाऊं, मैं उनके बराबर रहना चाहता था.

2. एडम गिलक्रिस्ट का वॉक-आउट

Source: cricket

2003, वर्ल्ड कप श्रीलंका के ख़िलाफ़ खेले गए सेमीफ़ाइनल मैच के दौरान अंपायर ने एडम गिलक्रिस्ट को नॉटआउट दिया था. बावजूद इसके वो ख़ुद ही मैदान छोड़कर चले गए.

3. जब गंभीर ने अपना Man of The Match कोहली को दे दिया

Source: indiatvnews

साल 2009 में कोलकाता के ईडन गार्डन में श्रीलंका के ख़िलाफ़ खेले गए एक मैच के दौरान गौतम गंभीर को Man of The Match दिया गया. लेकिन गंभीर ने ये अवॉर्ड विराट कोहली को दे दिया. गंभीर ने इस मैच में 150 जबकि विराट ने 107 रन की पारी खेली थी.

4. निदाहास ट्रॉफी जीतने के टीम इंडिया के खिलाड़ियों के हाथों में श्रीलंका झंडा

Source: gazabpost

हाल ही में निदाहास ट्रॉफी जीतकर टीम इंडिया के खिलाड़ियों ने अपने हाथों में श्रीलंका के झंडे को लेकर मैदान के चक्कर लगाए, जवाब में श्रीलंका के क्रिकेट प्रेमियों ने भी इंडिया के इस कदम का ज़ोरदार स्वागत किया. टीम इंडिया ने अपनी जीत और श्रीलंका के आज़ादी के जश्न को एक साथ मनाकर पूरी दुनिया के क्रिकेट प्रेमियों ये दिखा दिया कि यूं ही नहीं हैं हम दुनिया की नंबर वन टीम.

5. रोबिन उथप्पा ने 264 रन बनाने में ऐसे की थी रोहित शर्मा की मदद

Source: sportskeeda

13, नवम्बर 2014, रोहित शर्मा ने वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक 264 रन बनाये थे. इस मैच के दौरान जब रोबिन उथप्पा 41वें ओवर मैं बैटिंग करने आये तो, रोहित शर्मा 155 रन के स्कोर पर बैटिंग कर रहे थे. मैच में बचे 58 बॉल में से उथप्पा ने सिर्फ़ 16 बॉल खेलकर रोहित को 264 रन बनाने में मदद की.

6. वेस्टइंडीज़ टीम के खिलाड़ियों ने दिया सच्ची खेल भावना का परिचय

Source: rediff

सचिन तेंदुलकर ने अपना आख़िरी मैच 14 नवंबर, 2013 को मुंबई में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ खेला था. उनके इस अंतिम मैच में न सिर्फ़ भारतीय बल्कि वेस्टइंडीज़ टीम के खिलाड़ियों ने भी सच्ची खेल भावना का परिचय देते हुए उनको यादगार विदाई दी. क्रिकेट इतिहास में सचिन का फ़ेयरवेल सबसे शानदार माना जाता है.

7. 2011, वर्ल्डकप की जीत, सचिन तेंदुलकर को समर्पित

Source: livemint

साल 2011, वर्ल्डकप की जीत भला कौन भारतीय क्रिकेट फ़ैन भूल सकता है? फ़ाइनल जीतने के बाद सभी खिलाडियों ने ये जीत सचिन तेंदुलकर को समर्पित की थी. क्योंकि सचिन तेंदुलकर क्रिकेटर के तौर पर एक बार वर्ल्डकप जीतने वाली टीम का हिस्सा बनना चाहते थे.

8. जयवर्धने को उनके अंतिम मैच में पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने दी यादगार विदाई

Source: sportskeeda

श्रीलंका के महानतम खिलाड़ियों में से एक महेला जयवर्धने ने अपना अंतिम टेस्ट मैच पाकिस्तान के ख़िलाफ़ खेला था. उनके इस अंतिम मैच में पाकिस्तान के खिलाड़ियों ने खेल भावना का परिचय देते हुए उनको यादगार विदाई दी.

9. रिचर्ड हैडेली ने दोस्त के लिए कुर्बान कर दिए अपने 10 विकेट

Source: sportskeeda

टेस्ट क्रिकेट इतिहास में एक इनिंग में 10 विकेट पहली बार इंग्लैंड के जिम लेकर ने लिए थे. इसके बाद साल 1999 भारत के अनिल कुंबले ने इसे दोहराया था. लेकिन 1985 में भी ऐसा ही कारनामा होने वाला था, जब न्यूज़ीलैंड के रिचर्ड हैडेली 9 विकेट ले चुके थे. लेकिन ऑस्ट्रेलिया के अंतिम बल्लेबाज़ का मुश्किल कैच लेकर अपने साथी गेंदबाज़ को एकमात्र विकेट दिलाया. हैडेली ने अपने 10 विकेट के रिकॉर्ड के आगे टीम की जीत को रखा.

10. भारतीय खिलाड़ियों की जर्सी पहनकर पाकिस्तान को सपोर्ट करना

Source: hindustantimes

साल 2016 में ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे मैच के दौरान पाकिस्तानी फ़ैन भारतीय खिलाड़ियों की जर्सी पहनकर पाकिस्तान टीम को सपोर्ट करते नज़र आये.

अगर आपके पास भी हैं कुछ ऐसे ही यादगार पल तो हमें कमेंट्स करके बताएं.