अगर आप कॉलेज या 9 से 5 की ज़िंदगी में व्यस्त हैं और इंटरनेट चलाने की क्षमता रखते हैं तो यकीनन आपने अभी तक ढिंचैक पूजा का नाम सुन लिया होगा. ये महिला इंटरनेट की दुनिया के कुछ ऐसे दुर्लभ आर्टिस्ट्स में शुमार है, जो गालियां खाकर और आलोचना सुनने के बावजूद भी सुर्खियों में बनी हुई है.

आप भले ही इन्हें पसंद करें या न करें, लेकिन आप उन्हें यकीनन इग्नोर नहीं कर सकते. ए.सी. ऑफ़िसों में बैठ कर हम इन्हें इनके गाने के लिए कितना भी कोस लें, लेकिन सच्चाई यही है कि जब भी हम उनकी वीडियो पर क्लिक कर उन पर हंसते हैं या उनका मज़ाक उड़ा रहे होते हैं, तो हम न चाहते हुए भी ढिचैंक पूजा की कमाई को बढ़ा रहे हैं.

सोशल मीडिया साइट Quora पर ढिचैंक पूजा की कमाई को लेकर सवाल पूछा गया और जो जवाब सामने आए उन्हें जान कर आप हक्के-बक्के रह जाएंगे.

Source: sociofreak

गूगल एडवर्टिसमेंट को अगर आधार बनाया जाए तो पूजा को हर 1000 व्यू पर 1 से 1.5 डॉलर की कमाई होती है. उदाहरण के तौर पर 'सेल्फ़ी मैंने ले ली आज' वीडियो पर 10 मिलियन व्यूज़ हैं तो उनकी कमाई 10,000 डॉलर से 15,000 डॉलर के बीच होगी.

इसी नियम के हिसाब से अगर देखा जाए तो ढिंचैक पूजा के 'सेल्फ़ी मैंने ले ली आज' के लगभग 13 मिलियन व्यू हो चुके हैं. यानि केवल इस वीडियो से ही उनकी कमाई 13,02,343 रुपए के आस-पास हो जाती है.

यानि यूट्यूब कमाई का फ़ॉर्मूला है:

वीडियो पर क्लिक्स/ 1000 * 1 या 1.5 डॉलर.

सोशल ब्लेड नाम की वेबसाइट यूट्यूब, इंस्टाग्राम और ट्विटर जैसे सोशल साइट्स के यूज़र आंकड़ों का हिसाब रखती है. इसके अलावा AdSense के द्वारा कमाई काफ़ी हद तक लोकेशन और यूज़र की केटेगरी ऑफ़ इंट्रेस्ट पर भी निर्भर करता है. इस हिसाब से ढिचैंक पूजा हर महीने 5000 डॉलर से लेकर 80 हज़ार डॉलर यानि 3.20 लाख से 50 लाख तक कमा लेती है.

हालांकि इसके अलावा भी कई और फ़ैक्टर्स हैं जो यूट्यूब पर कमाई निर्धारित करते हैं. लेकिन 1 से 1.5 डॉलर के आंकड़े को मोटे तौर पर निर्णायक माना जा सकता है. हालांकि घटते-बढ़ते व्यूज़ के बीच सटीक सेलरी के बारे में पता लगाना मुश्किल है.

ढिचैंक पूजा को अपने सेल्फ़ी सॉन्ग के लिए यूट्यूब एडवर्टाइज़िंग से लगभग 2.24 लाख से 4.9 लाख रुपयों की कमाई हुई है. गौरतलब है कि डीएनए की रिपोर्ट में ये सामने आया था कि भारत के कटेंट क्रिएटर्स को यूट्यूब दूसरे देशों की तुलना में बेहद कम रेवेन्यू शेयर देता है, तब जाकर उन्होंने ये कमाई की है.

बदनाम हुए तो क्या, नाम तो हुआ की तर्ज पर आज ढिचैंक पूजा लाखों में कमाई कर रही हैं. शायद यही कारण है कि वाहियात आवाज़ होने के बावजूद वो गाना-बजाना बिल्कुल बंद नहीं कर रही हैं. वो जानती हैं कि इंटरनेट पर हज़ारों ऐसे लोग बैठे हैं जो उनके बेसुरे गाने की बुराई कर-कर उन्हें पॉपुलर बना देंगे. ढिचैंक का ये इरीटेटिंग अंदाज़ ही दरअसल उनकी यूएसएपी है. आप उनकी बुराई करने के लिए उनके वीडियोज़ पर क्लिक करेंगे, वहीं किसी पैरेलल यूनिवर्स में ढिचैंक आपकी बेवकूफ़ी पर हंस रही होंगी.

Source: Storypick and Quora