कैसा हो अगर आपको पता चले कि मरने के बाद आप स्वर्ग या नर्क में नहीं, बल्कि किसी सोफ़े के पास बेपरवाही से पड़े हैं और आपके सिर का एक हिस्सा छिला हुआ है? यही नहीं, आपका इस्तेमाल लिखने के लिए भी हो रहा है? सुनने में भले ही ये अजीब लगे, लेकिन आर्टिस्ट नैदिन जार्विस मृत इंसानों को पेंसिल में तब्दील कर रही हैं.

दरअसल शमशान घाट में अंतिम संस्कार के बाद इंसान की बची हुई राख को ये महिला अपने प्रोजेक्ट के लिए इस्तेमाल करती है. वे अपने रिसर्च प्रोजेक्ट के ज़रिए मनुष्य की राख को पेंसिल में बदल देती हैं. जार्विस के इस दिलचस्प प्रोजेक्ट से सामने आया कि एक सामान्य इंसान की राख से 240 पेंसिलों का निर्माण हो सकता है.

Source: tistory

जार्विस ने बताया कि "मैं हमेशा से ही ज़िंदगी और मौत से जुड़ी वस्तुओं को लेकर काफ़ी आकर्षण महसूस करती रही हूं. अपने काम के द्वारा मैं किसी इंसान और वस्तुओं के बीच विलक्षण संबंध को उकेरने की कोशिश करती हूं".

उन्होंने बताया कि "Rest in Pieces और बर्डफ़ीडर दरअसल इसी दिलचस्पी से उभर कर एक प्रोजेक्ट के रूप में तब्दील हुआ है. मैं कुछ ऐसी वस्तुएं चाहती थी जिससे मैं अपने प्रोजेक्ट को आगे बढ़ा सकूं. इस दौरान मैंने कई चीज़ों पर हाथ आज़माया और उनके साथ अलग-अलग प्रयोग किए. मैंने पाया कि किसी मृत इंसान को इन वस्तुओं के द्वारा दोबारा जन्म दिया जा सकता है. मुझे ये बेहद दिलचस्प लगा और इसलिए मैंने इस प्रोजेक्ट पर काम करने का फ़ैसला किया".

Source: Anorak