आज दौड़ती भागती ज़िंदगी और Netflix के ज़माने में अक्सर कई लोग नींद की कमी से जूझ रहे है. नींद की कमी से कई लोगों में तनाव बढ़ जाता है और कई लोग अक्सर इस वजह से चिड़चिड़े भी हो जाते हैं. इंसान का शरीर आपकी आदतों के हिसाब से परिवर्तित होता रहता है, ऐसे में अगर आप कुछ हफ़्ते देर से सोने लगें तो जल्दी नींद आना भी बेहद मुश्किल हो जाता है, वहीं इसके अलावा कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें कई प्रयासों के बाद भी नींद नहीं आती.

अगर आप भी रात में नींद न आने या समय पर नींद न आने की समस्या से गुज़र रहे हैं तो तो ये ख़बर आपको बेहद राहत पहुंचा सकती है.

Source: naturalsleepaidsguide

हार्वर्ड से ट्रेनिंग प्राप्त करने वाले डॉ. एंड्रयू वेल ने 4-7-8 नाम की एक नई तकनीक को ईजाद किया है. ये तकनीक उन लोगों के लिए है, जिन्हें रात को नींद आने में दिक्कत होती है. एंड्रयू का मानना है कि इस तकनीक से हमारा नर्वस सिस्टम शांत होता है.

इस तकनीक को आज़माने का तरीका कुछ इस प्रकार है -

चार सेकेंड तक अपनी सांसों को अंदर खींचें, इसके बाद सातवें सेकेंड तक सांस को रोक कर रखें, इसके बाद आठवें सेकेंड पर सांस छोड़ दें. इस तकनीक के चार सेट करें और जल्दी ही आप नींद के आगोश में समा जाएंगे.

डॉ. एंड्रयू के मुताबिक, सांस से जुड़ी इस प्रक्रिया को आपको हर रोज़ दिन में दो बार करना होगा. 'ये नींद लाने के लिए एक बेहतरीन तरीका है. आप चाहें तो इसे दिन में भी कर सकते हैं. ये बेहद आसान है, इसमें समय भी नहीं लगता है, इसे कहीं भी आराम से बैठकर किया जा सकता है और इसमें किसी तरह के बाहरी यंत्र की भी ज़रूरत नहीं पड़ती है. इस तकनीक को करने के चार से छह सप्ताह बाद आपको अपने शरीर में बेहतरीन बदलाव देखने को मिलेंगे.'

इस वीडियो के सहारे आप इस तकनीक को अच्छे से समझ सकते हैं.

अब Eye Masks, Ear Plugs और नींद की गोलियों को भूल जाइए और सांस लेने की इस नई तकनीक को अपने जीवन में आज़मा कर देखिए. ये न केवल आपके शरीर और मस्तिष्क को शांत करेगी, बल्कि तनाव के स्तर को कम करते हुए गुस्से और चिड़चिड़ेपन में भी कमी लाएगी.

Source: Scoopwhoop