मुझे याद है, हमें स्कूल में जो टीचर पढ़ाते थे, उनका सर नेम यानि लास्ट नेम इतना फनी था कि हमारी पूरी क्लास उनका लेक्चर ढंग से कभी नहीं सुनती थी. 'नाम' के नाम पर हर किसी की खिंचाई कभी न कभी तो ज़रूर हुई होगी. अजीब सर नेम वालों को अलग परेशानी का सामना तब भी करना पड़ता है, जब उन्हें फ़ोन पर किसी को अपना नाम बताना पड़े. लेकिन एक भाई साहब हैं, जिन्हें अपने अजीब नाम की वजह से फाइव स्टार्स होटल में फ्री में रहने-खाने को और फ्री में महंगी-महंगी गाड़ियां चलाने को मिलता है.

न तो इनके सर नेम में ओबामा लिखा है और न ही टाटा-अम्बानी, बल्कि इनका नाम है Mr. Null. इनके नाम में इतना कुछ खास नहीं है, बस इसका मतलब कंप्यूटर की दुनिया में 'कुछ नहीं होता है'. यानि इस नाम को Computer में जब भी आप डालेंगे, Computer कुछ भी शो नहीं करेगा.

जो लोग Coding और Programming समझते हैं, उन्हें पता होगा कि जब भी आप Null लिखेंगे, तो Computer उसे Accept ही नहीं करेगा. इस बात का फायदा इस आदमी को मिलता है. वो जब भी किसी होटल में अपने नाम से Check-in करता है, तो उसका नाम होटल का सिस्टम रजिस्टर ही नहीं कर पाता.

Raven Felix Null है नाम

इस आदमी ने ये नाम जानबूझ कर चेंज किया क्योंकि इसको IT और Computers की इस गड़बड़ी के बारे में पहले से पता था. इसने शेयरिंग पेज Reddit पर सबसे ये बात कही कि अपने सर नेम के इस घोटाले की वजह से उसने कई दफा होटलों, क्लब्स और कारें फ्री में चलायी हैं.

कैसे करता था ये सब?

जब भी Null किसी होटल में जाता था, तो वहां का सिस्टम जब उनका नाम Accept करता था, तो होटल का स्टाफ़ कहता था कि वो उनका नाम नहीं रजिस्टर कर पा रहे. इस बात पर Null बखेड़ा खड़ा कर देते और कहते कि उन्हें ज़बरदस्ती परेशान किया जा रहा है. होटल के स्टाफ को उन्हें पैसे लिए बिना छोड़ना पड़ता था. लेकिन उनका ये प्लान हर बार कारगार नहीं होता था, कई बार जब होटल वाले मना कर देते, तो वो उन्हें सच बता देते कि ऐसा क्यों हो रहा है.

Source: Metro.co.uk

Featured Image Source: Frugal Travel Guy