भूत की कहानियां तभी तक ही रोमांचक और मज़ेदार लगती हैं, जब तक इन कहानियों जैसा ही कुछ आपकी ज़िंदगी में न घटने लगे. ये कहानियां सुनते-सुनाते हुए कई बार अजीबोगरीब भी महसूस हो सकता है और अक्सर ऐसे वक्त पर लोग अपने दोस्त या परिवार वालों से अपना अनुभव शेयर करते हैं.

लेकिन ये शख़्स, पैरानॉर्मल अनुभव को अलग स्तर पर ले जाते हुए ट्विटर पर शेयर कर रहा है. अपने साथ हो रही कई सिलेसिलेवार अजीबोगरीब घटनाओं को इस शख़्स ने एक ट्वीटर थ्रेड पर शेयर किया है. इस घटना की सच्चाई क्या है, आप खुद ही पढ़ लीजिए और फ़ैसला कीजिए.

मेरे अपार्टमेंट में एक मरे हुए बच्चे का भूत का आतंक है और ये भूत मुझे मारने की कोशिश करना चाहता है.

पहले ये भूत मुझे सपनों में दिखाई देता था लेकिन मुझे लगता है कि अब ये मेरी असल ज़िंदगी में भी घुस चुका है.

मैंने सबसे पहले जब इसे देखा था तो मुझे स्लीप पैरालिसिस का अनुभव हो रहा था. मैंने देखा कि एक बच्चा मेरे बेड के पास ही एक हरी कुर्सी पर बैठा था.

कुछ देर के लिए वो मुझे घूरता रहा लेकिन फिर वो अपनी कुर्सी से उठा और बेड की तरफ़ बढ़ने लगा.

मैं हिल नहीं पा रहा था क्योंकि मैं स्लीप पैरालिसिस के चलते जकड़ा हुआ था. ये वाकई बेहद बुरा अनुभव होता है.

उस बच्चे के मेरे पास पहुंचने से पहले ही मैं चीखते हुए उठ खड़ा हुआ.

उसका सिर एक तरफ़ से बुरी तरह मुड़ा हुआ था. वो कुछ-कुछ यूं दिखाई दे रहा था. इस तस्वीर में मैंने उसे बनाने की कोशिश की है.

कुछ दिनों बाद ही मुझे एक और सपना आया. इस सपने के अंदर मैं एक लाइब्रेरी में खड़ा था. पास में ही खड़ी एक लड़की आकर मुझसे पूछती है. 'तुमने डियर डेविड को देखा है. है ना?'

मैंने उससे पूछा ' कौन? तो उसने कहा - 'डियर डेविड, तुम उसे देख चुके हो.'

कुछ देर मौन रहने के बाद उसने कहा, 'वो मर चुका है. वो केवल आधी रात में दिखाई देता है और अगर तुम उसे पहले डियर डेविड कह कर पुकारो, तो उससे तुम दो सवाल पूछ सकते हो'

फिर उसने कहा, 'लेकिन उसे कभी तीसरा सवाल पूछने की कोशिश मत करना, वर्ना वो तुम्हें मार डालेगा.'

मैं इस सपने से घबरा गया था. एक ही चीज़ को लेकर दो सपने आना बेहद अजीब था. लेकिन अगले कुछ सप्ताह सब कुछ सामान्य रहा. कुछ सप्ताह यूं ही बीत गए.

डेविड कुछ दिनों बाद एक बार फिर मुझे सपने में दिखाई दिया. इस समय भी स्थिति एकदम वही थी. मैं बेड पर था और वो खिड़की के पास एक कुर्सी पर बैठा हुआ मुझे घूर रहा था.

मैंने सपने में उससे पूछा 'डियर डेविड, तुम्हारी मौत कैसे हुई? उसने कहा, 'स्टोर के पास हुए एक हादसे में.'

मैंने कहा, 'डियर डेविड, स्टोर में क्या हुआ था '? उसने कहा, ' किसी ने मेरे सिर पर एक शेल्फ़ गिरा दिया था.'

मैं डर के मारे कांप रहा था. मैंने उससे पूछा, 'उस शेल्फ़ को किसने गिराया था?'

डेविड ने कोई जवाब नहीं दिया.

मुझे एहसास हुआ कि मैंने तीसरा सवाल पूछ लिया है जो मुझे नहीं करना चाहिए था. ये ख्याल मन में आते ही मेरी नींद खुल गई और मैं घबराता हुआ सपने से उठा.

अगले कुछ दिन मैंने शहर की मौतों के बारे में गूगल किया लेकिन किसी स्टोर में हादसे में मरने वाले किसी डेविड का मुझे कुछ पता नहीं चला.

मैंने डेनियल, डिल्लन, डेवोन जैसे नाम भी गूगल किए लेकिन मुझे कुछ नहीं मिला. कुछ हफ़्ते ऐसे ही बीत गए.

कुछ हफ़्तों बाद मुझसे ऊपर वाला अपार्टमेंट खाली हो रहा था और चूंकि ये काफी बड़ा है, ऐसे में मैं यहां शिफ़्ट करना चाहता था.

दो महीने और बीत गए और मैं डियर डेविड के बारे में काफी हद तक भूल चुका था. हो सकता है कि वो मुझे ढूंढने मेरे पहले अपार्टमेंट आया हो क्योंकि मैं अब ऊपर शिफ़्ट कर चुका था.

लेकिन पिछले कुछ दिनों से कुछ बेहद अजीब हो रहा है.

पिछली चार रातों से, मेरी बिल्लियां आधी रात होते ही दरवाज़े के सामने आकर बैठ जाती हैं और दरवाज़े को घूरती रहती हैं. ऐसा लगता है, मानो दरवाज़े के दूसरी तरफ़ कोई मौजूद है.

पिछली रात मुझे बेहद अजीब लग रहा था और मैंने अपने दरवाज़े के झरोखे से देखने की कोशिश की. मैं यकीन के साथ कह सकता हूं कि मुझे वहां कुछ चहलकदमी महसूस हुई.

जब मैंने दरवाज़ा खोला और हॉल की लाइट जलाई, तो वहां कोई नहीं था लेकिन मेरी बिल्लियां घबराई हुई लग रही थी.

और मैं अब यहां हूं, शायद डियर डेविड ने मुझे ढूंढ लिया है. मुझे नहीं पता मुझे क्या करना है. मैं आपको अपडेट करता रहूंगा.

अपडेट: पिछले 6 दिनों से आधी रात होते ही मेरी बिल्लियां लगातार दरवाज़े के पास खड़ी हो जाती है और दरवाज़े को घूरती रहती हैं.

मुझे दरवाज़ा खोलने में बेहद डर लग रहा है इसीलिए मैंने इस झरोखे से एक फ़ोटो खींची है. मुझे महसूस हो रहा है कि मैंने वहां किसी को देखा है.

थोड़ी हिम्मत जुटाने के बाद मैंने इस दरवाज़े को खोला है. यहां कुछ नहीं है लेकिन मैंने एक और तस्वीर ज़रूर ली है. ये देखिए

मैं विश्वास के साथ नहीं कह सकता कि वो क्या था इसीलिए मैंने अंदर से दूसरी तस्वीर खींच ली. वहां कुछ न कुछ ज़रूर था.

मुझे बहुत डर लग रहा है.

कुछ ट्विटर यूज़र्स ने अपने ट्वीट्स के ज़रिए एडम की मदद करने की भी कोशिश की.

एडम, तुम्हें डेविड से सीधे बात करनी होगी और उसे जाने के लिए कहना होगा. अगर उसकी मौजूदगी तुम्हें परेशान कर रही है तो तुम्हें मदद लेने की ज़रूरत है.

ये बेहद ड़रावना है. अगर मैं उस शख़्स की जगह होती तो या तो किसी पादरी को बुला लेती या इस घर से फ़टाफ़ट शिफ़्ट कर जाती.

कुछ लोगों का मानना है कि जो लोग पैरानॉर्मल घटनाओं को लेकर संवेदनशील होते हैं, उनके पास इन परिस्थितियों को कंट्रोल की क्षमता भी होती है. जो भी हो, एडम की कहानी सिहरन पैदा करती है. उम्मीद है, डियर डेविड जो भी है, वह एडम को अकेला छोड़ देगा.