यारों-दोस्तों के साथ होटल या रेस्टोरेंट में जा कर पार्टी करने के बाद आप चुपचाप बिल दे कर निकल आते हैं. वहीं जब आप अपनी गर्लफ्रेंड या किसी महिला के साथ होटल या रेस्टोरेंट में जाते हैं, तो आप वेटर को टिप दे कर अपनी दिलदारी दिखाने की कोशिश करते हैं.

भले ही आपको अपने देश में किसी होटल में टिप देना एक आम-सी बात लगे, पर कई देशों में इसे शिष्टाचार की निशानी माना जाता है. इसका मतलब ये हुआ कि यदि आपने खाने के बाद टिप देने में थोड़ी भी कोताही बरती, तो आपके बारे में होटल स्टाफ़ गलत अंदाज़ा लगा सकते हैं.

ग्रीस

यहां आने वाले टूरिस्टों से होटल और रेस्टोरेंट स्टाफ़ वाले उम्मीद करते हैं कि वो टिप के रूप में बिल का 5%-10% देंगे. कुछ होटल टिप को बिल के साथ जोड़ कर ग्राहकों को देते हैं, जिसमें लोगों की संख्या के हिसाब से 1 यूरो तक लिया जाता है.

भारत

हिंदुस्तान में टिप को ले कर थोड़ी कन्फ्यूजन है क्योंकि यहां कई इलाकों में बिल का 7% तक टिप लिया जाता है. जबकि होटलों की तरफ़ से पहले ही बिल में 5%-10% सर्विस चार्ज जोड़ा जाता है. इसका मतलब ये हुआ कि यदि आप यहां टिप नहीं भी देते, तो भी काम चल जाता है.

जापान

जापान में आपको हाई स्टैण्डर्ड की सर्विस दी जाती है, पर चौंकिए मत क्योंकि यहां आपसे किसी तरह की कोई टिप नहीं ली जाती है. यदि आप टिप देने की कोशिश करते भी हैं, तो वो ठुकरा दी जाती है. इसे देख कर यही लगता है कि 'अतिथि देवो भवः' का सही अर्थ शायद जापानी ही समझते हैं.

चीन

चीन में भी टिप देना अनिवार्य नहीं है, पर लगातार बढ़ते टूरिस्टों की वजह से यहां ये कल्चर भी धीरे-धीरे चलन में आने लगा है. गाइडों और ड्राइवरों की सर्विस को देख कर आप उन्हें टिप दे सकते हैं.

कनाडा

अमेरिका के करीब होने की वजह से कनाडा में भी यहां की सर्विस और कल्चर का प्रभाव साफ़ देखा जा सकता है. इस कल्चर का असर आप सर्विस के लिए दी जाने वाली टिप पर भी देख सकते हैं. सर्विस के बदले यहां 15-20 परसेंट टिप देने का रिवाज़ है, जिसे शायद ही बिल के साथ जोड़ा जाता है.

फ्रांस

अमेरिका की तरह ही फ्रांस में भी टिप को बिल में ही जोड़ा जाता है. इसकी वजह से आपको अलग से टिप देने कोई कोई ज़रूरत नहीं है.

मेक्सिको

मेक्सिको भी उन देशों में से एक है, जहां आपके बिल के साथ टिप को पहले ही जोड़ दिया जाता है. इस कल्चर को यहां 'प्रोपीना' कहते हैं, जिसके लिए आपसे 30-40 Pesos ($2 USD) वसूले जाते हैं.

नीदरलैंड

अगर आप कभी नीदरलैंड की तरफ़ जा रहे हैं, तो दिमाग़ में एक बात बैठा लें कि ये देश पहले ही टूरिज्म से काफ़ी पैसा कमा रहा है. अगर आप यहां किसी होटल की सर्विस से खुश हैं, तो 5% टिप दे सकते हैं. यदि आप टिप नहीं भी देते, तो भी आपका काम चल जायेगा.

ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया का नाम भी उन देशों में गिना जाता है, जहां टिप देना न देना टूरिस्ट के मूड पर निर्भर करता है. यहां पर कोई आपकी टिप के लिए नहीं ठहरता.

थाईलैंड

थाईलैंड के बड़े शहरों जैसे बैंकाक वगैरह में आपको टिप देने की ज़रूरत नहीं है, पर यहां के छोटे शहरों में सर्विस के बदले टिप देना आपका फर्ज़ बनता है. सर्विस देने वाले आपसे उम्मीद करते हैं कि होटल से निकलते वक़्त आप टेबल पर कुछ छोड़ कर जायेंगे.

तुर्की

इस्तांबुल जैसे बड़ी टूरिस्ट जगहों के बड़े होटलों में 10%-15% तक टिप ली जाती है. जबकि छोटे शहरों में टिप देना ज़रूरी नहीं है. हालांकि, गाइड को थोड़ा-बहुत टिप कैश के रूप में देना उनकी हौसलाफ़ज़ाई की तरह काम करता है.

मोरक्को

मोरक्को एक ऐसा देश है, जो लेन-देन में यकीं रखता है. यहां के Marrakech शहर के सौदागर थोड़े गुस्सैल किस्म के हैं, जिन्हें आप आराम से बात करके समझा सकते हैं. होटलों में आप सीधे वेटर को टिप दे सकते हैं.

साउथ अफ्रीका

यहां टिप लेना सर्विस देने वालों का मौलिक अधिकार समझा जाता है. टिप के रूप में यहां 10% से 15% लिए जाते हैं. जबकि पार्किंग अटेंडेंट्स और एयरपोर्ट पर सर्विस देने वाले भी टिप के हक़दार होते हैं.

इटली

इटली में भी टिप देना आपके मूड पर निर्भर करता है. अगर आप किसी होटल की सर्विस की तारीफ़ करना चाहते हैं, तो थोड़े-बहुत पैसे टेबल पर छोड़ सकते हैं.

Source: popsugar