कभी-कभी हमें अपने कर्मों का फल इतनी जल्दी मिल जाता है कि उस पर यकीन करना ही मुश्किल हो जाता है. ऐसा ही हुआ तमिलनाडु में एक चोर के साथ, जिसे चोरी करने की सज़ा तुरंत ही मिल गई. दरअसल, चोर ने जिस कार को चुराया था, वो रास्ते में बंद हो गई. उसकी किस्मत इतनी फूटी थी कि उसने जिन लोगों से धक्का मारने के लिए मदद मांगी, वो पुलिस वाले निकले.

Source: Jansatta

ये पूरी घटना तमिलनाडु के पुझल इलाके की है. यहां 27 साल का हिस्ट्रीशीटर बालाकृष्ण एक वैन चुरा कर जा रहा था. रास्ते में वैन ख़राब हो गई. उसने मदद के लिए पास में ही चाय पी रहे दो लोगों को बुलाया. वो मदद करने के लिए तैयार हो गए, लेकिन वैन की हालत देखने के बाद उन्हें उस पर शक हो गया.

वैन का आगे का शीशा टूटा हुअा था और उस आदमी के पास उसकी चाभी नहीं थी. वास्तव में मदद के लिए जो लोग आए थे, वो सिविल वर्दी में पुलिस वाले थे. ये दोनों कॉन्स्टेबल आर. सेलवामनिकम और पी. मदन पुझल जेल में तैनात हैं. ये अपनी ड्यूटी ख़त्म होने के बाद घर लौट रहे थे. तभी उनकी मुलाकात इस चोर से हुई.

Source: RTI News

उन्होंने शक होने पर वैन में लिखे नंबर पर कॉल किया. ये नंबर उस वैन के मालिक रहमान ने उठाया. रहमान ने बताया कि वेल्लोर में जहां उसने अपनी वैन खड़ी थी, वो अब गायब है. पार्किंग की जगह पर कांच के टुकड़े भी पड़े थे और उसे शक है कि किसी ने उसकी वैन चुरा ली. इसके बाद दोनों कॉन्स्टेबल ने बालाकृष्ण को पकड़ कर पुझल पुलिस को सौंप दिया.

Source: Patrika

पुलिस ने जब छानबीन शुरू की, तो उन्हें पता चला कि वो एक हिस्ट्री-शीटर है और उसके ख़िलाफ चोरी के कई मामले दर्ज हैं. साथ ही सीसीटीवी फु़टेज की जांच करने पर ये सामने आया कि रहमान की वैन भी उसी ने चुराई थी. फ़िलहाल पुलिस ने उसे चोरी के जुर्म में गिरफ़्तार कर जेल भेज दिया है.

Source: Jansatta

इसे कहते हैं कर्म का फल तुरंत मिलना. यहां चोर का किस्मत फूटी निकली जबकि वैन के मालिक की किस्मत ने उसका साथ दिया. तभी तो चोरी होने बाद भी उसकी वैन उसके पास वापस आ गई. 

Source: Storypick