पूरी दुनिया सीरिया के बुरे हालात से वाकिफ़ है. सीरिया का ऐसा ही एक शहर अलेप्पो लगातार हो रही बमबारी से इतना तबाह हो चुका है कि शायद उसे फिर से बसा पाना बड़ा मुश्किल होगा. अलेप्पो शहर में एक लड़की थी, जिसका नाम Bana Alabed है. महज सात साल की ये लड़की इंटरनेट पर लोगों के दिल में घर कर चुकी थी. उसने हर दिन पूरी दुनिया को ट्वीट के ज़रिये अलेप्पो में हो रहे दर्दनाक मंजर को बताना शुरू कर दिया. लोग उसके ट्वीट को और उन खौफ़नाक मंजर वाली तस्वीरों को शेयर करने लगे थे. उसकी पोस्ट शेयर करने वालों की लिस्ट में बड़े-बड़े सेलेब्रिटी भी शामिल थे.

इस बात के लिए कई लोगों ने Bana की तारीफ़ की. लोगों का दिल तब बैठ गया, जब इस बच्ची ने काफ़ी समय तक कोई ट्वीट नहीं किया. पर फिर Bana ने सबको बताया कि वो अपने परिवार के साथ किसी तरह सीरिया से निकल पर तुर्की आ गयी है. Bana तुर्की के प्रधानमंत्री Recep Tayyip Erdogan और उनकी पत्नी से भी मिली. तुर्की ने लगभग 27 लाख सीरियाई रिफ्यूज़ियों को पनाह दी है.

आपको बता दें कि Erdogan की सरकार पिछले साल हुए कुछ स्कैंडल्स के कारण बहुत दबाव में है. उसके बाद इन सीरियाई रिफ्यूज़ियों को पनाह देकर सरकार और खतरे में आ गई है. सीरियाई रिफ्यूज़ियों के कारण यहां के लोग कई अपराधों, ज़्यादा भीड़ और न्यूनतम मेहनताने से जूझ रहे हैं. लेकिन हैरानी की बात तो ये है कि आंकडें दिखाते हैं कि सीरियाई रिफ्यूज़ियों के कारण देश की इकॉनमी बूस्ट हुई है.

सीरियाई रिफ्यूज़ियों को पनाह मिली, इस बात से भी ज़्यादा ख़ुशी इस बात को लेकर है कि एक सात साल की बच्ची अब रोज़ मौत के खौफ़ के साथ नहीं उठेगी.

Source: Distractify