गुरु यूपी में रहने का अपना ही मज़ा है. यहां की बोली और डायलॉग की अहमियत यहां रहते हुए भले समझ ना आए, लेकिन दिल्ली, मुम्बई वालों के बीच में इसका तगड़ा भौकाल रहता है. बोलचाल की भाषा में, पेलो, चौकस, भौकाल, अमा गुरु जैसे शब्द वैसा ही स्वाद देते हैं, जैसे पंडित जी की चाट. इन डायलॉग्ज़ के साथ इंसान यूपी से तो निकल सकता है, लेकिन उसके अंदर से यूपी नहीं.

इसके अलावा यूपी वालों का अंदाज़-ए-Insult तो दिल ही जीत लेता है. तो अगली बार कोई आपसे तफ़री ले, तो यूपी वालों के अंदाज़ में रगड़ के रख दीजिएगा.

Lovely Designs By- Sanil Modi