हम हिन्दुस्तानियों को अन्धविश्वास जन्म से ही उपहार के रूप में मिला हुआ है, जिसे हम ताउम्र अपने मरने तक निभाते हैं. अगर आप सोचते हैं कि इस अन्धविश्वास के मामले में सिर्फ़ हम ही आगे हैं, तो थोड़ा ठहरिये क्योंकि आज जिस ख़बर के बारे में हम आपको बताने वाले हैं उसे पढ़ कर आप भी यकीन करने लगेंगे कि पूर्व से ले कर पश्चिम तक अन्धविश्वास का बोलबाला है.

नदियों में सिक्के डाल कर दुआओं को मांगते हुए आपने कई लोगों को देखा होगा. हो सकता है आपने भी किसी ताल या कुएं में सिक्के डाल कर कोई दुआ मांगी हो, पर क्या आप जानते हैं कि पानी में सिक्के डाल कर आपके द्वारा मांगे जाने वाली इन दुआओं के चक्कर में नदी और ताल का पानी ज़हरीला हो रहा है.

आस्था और अन्धविश्वास के बहाव में सब कुछ जानने के बावजूद हम ऐसा करने से परहेज नहीं करते, पर कई बार यही अंधविश्वास ही आपके साथ-साथ दूसरों की भी जान का दुश्मन बन जाता है.

अब जैसे चीन का ही वाकया ले लीजिये, जहां शंघाई से Guangzhou रही फ्लाइट एक महिला के अन्धविश्वास की वजह से 5 घंटे की देर हो गई.

दरअसल 80 वर्षीय की इस महिला ने शुभ यात्रा की दुआ मांगी थी, जिसके लिए उसने फ्लाइट के इंजन में सिक्के डाल दिए. जिस समय महिला ने इस घटना को अंजाम दिया उस वक़्त फ्लाइट उड़ने की तैयारी कर रही थी. इसका पता चलते ही क्रू मेंबर इंजन की जांच करने में जुट गए. जांच के दौरान इंजन में फेंके गए 8 सिक्कों में से 1 सिक्का मिला.

पुलिस के मुताबिक, 80 वर्षीय Qiu बौद्ध धर्म में विश्वास करती हैं और मानती थीं कि ऐसा करने से उनकी यात्रा मंगलमय होगी. पुलिस इस बारे में भी जांच कर रही है कि कहीं Qiu का कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड, तो नहीं है या वो किसी मानसिक बीमारी से पीड़ित नहीं है.

Source: distractify