अमर वीर गाथाओं का देश है भारत. यहां आन-बान की रक्षा के लिए लोगों ने जान तक कुर्बान कर दी है. इस देश की महिलाएं भी धरती के सम्मान औेर अपने स्वाभिमान की रक्षा के लिए प्राणों की आहुति देने से कभी नहीं चूकीं. यहां जब-जब महिलाओं का अपमान हुआ, खून की नदियां बही हैं. क्योंकि हमारे लिए स्त्री सदैव आदरणीय और पूजनीय रही है. आज हम आपको देश में हुए उन युद्धों बताने जा रहे हैं, जो औरतों के सम्मान, प्रेम और अस्मिता की रक्षा के लिए लड़े गए.

1. रामायण

रामायण की प्रमुख महिला पात्र देवी सीता का रावण द्वारा अपहरण किए जाने के बाद श्रीराम ने लंका पर चढ़ाई कर दी. रावण ने सीता का अपहरण करके अपनों बहन शूर्पणखा का बदला लेना चाहा था. शूर्पणखा श्रीराम से विवाह करना चाहती थी, लेकिन वो शादीशुदा होने के कारण ऐसा नहीं कर सकते थे. शूर्पणखा द्वारा लगातार विवाह का दबाव बनाए जाने और सीता को नुकसान पहुंचाने की धमकियों के बीच परेशान लक्ष्मण ने उसकी नाक काट दी थी. इससे चिढ़ा हुआ रावण सीता से जबरन विवाह करना चाहता था. शांति प्रयासों के असफल होने के बाद श्रीराम ने वानर सेना की मदद से लंका पर आक्रमण करके सीता को छुड़ाया. इस दौरान रावण के पूरे साम्राज्य और परिवार का विनाश हो गया और उसके भगवतप्रेमी भाई विभीषण को लंका का नया राजा बनाया गया.

2. महाभारत

Source: bharatdiscovery

महाभारत की पटकथा भी जाने-अनजाने एक औरत के कारण ही लिखी गई थी. पांचाल नरेश की बेटी द्रौपदी ने दुर्योधन के गलती से पानी में पैर रख देने पर उसका मज़ाक उड़ाया था. बदला लेने को दुर्योधन ने अपने भाई और द्रौपदी के पति युधिष्ठिर को पासा खेलने में हरा दिया और छल से द्रौपदी को भी जीत लिया. इसके बाद उसने अपने भाई दुशासन से कहा कि भरी सभा में उसे जबरन लाए और उसका चीर हरण करे. इसके बाद जो हुआ सभी जानते हैं. द्रौपदी का सम्मान तो श्रीकृष्ण ने बचा लिया, लेकिन द्रौपदी ने कसम खाई कि जब तक दुर्योधन के रक्त से अपने बाल नहीं धोएगी, अपने बालों को नहीं बांधेगी. परिणाम जो हुआ, वो महाभारत था.

3. श्रीकृष्ण का रुक्म से युद्ध

Source: rits

भगवान श्रीकृष्ण की पत्नी रुक्मिणी से उनका विवाह एक युद्ध के बाद हुआ था. विदर्भ के राजा भीष्मक की पुत्री रुक्मिणी भगवान कृष्ण से प्रेम करती थीं और उनसे विवाह करना चाहती थीं. रुक्मिणी के पांच भाई थे- रुक्म, रुक्मरथ, रुक्मबाहु, रुक्मकेस तथा रुक्ममाली. रुक्मिणी सर्वगुण संपन्न तथा अति सुन्दरी थीं. उनके माता-पिता उनका विवाह कृष्ण के साथ करना चाहते थे, किंतु रुक्म चाहता था कि उसकी बहन का विवाह चेदिराज शिशुपाल के साथ हो. यह कारण था कि कृष्ण को रुक्मिणी का हरण कर उनसे विवाह करना पड़ा था. इस दौरान शिशुपाल और रुक्म दोनों से श्रीकृष्ण की सेना को युद्ध करना पड़ा था.

4. पृथ्वीराज चौहान और मुहम्मद गोरी के बीच तराइन का युद्ध

Source: bhaskar

कन्नौज के राजा जयचंद और दिल्ली के राजपूत राजा पृथ्वीराज चौहान के बीच नहीं बनती थी. चौहान के शौर्य और साहस से जयचंद को ईर्ष्या होती थी. इस बीच जयचंद की बेटी संयोगिता और पृथ्वीराज के बीच प्रेम पनप गया, जो जयचंद को कतई मंज़ूर नहीं था. उसने संयोगिता का स्वयंवर रचाया और देश के सभी राजकुमारों को इसमें आमंत्रित किया, लेकिन पृथ्वीराज को नहीं. साथ ही उन्हें अपमानित करने के लिए उसने उनकी एक मूर्ति को अपने दरवाज़े पर द्वारपाल के रूप में लगवाया. लेकिन संयोगिता ने सबको दरकिनार करके पृथ्वीराज की मूर्ति के गले में जयमाला पहना दी.तभी पृथ्वीराज चौहान, जो मूर्ति के पीछे छुपे थे, सामने आ गए और संयोगिता को सबके विरोध के बावजूद भगा ले गए. इसका बदला लेने के लिए जयचंद ने पृथ्वीराज से हारे हुए मोहम्मद गोरी को दुबारा हमला करने को उकसाया और साथ देने का वादा किया. इस कारण तराइन का एक और युद्ध हुआ.

5. चित्तौड़ पर अलाउद्दीन खिलजी का हमला

Source: bhaskar

चित्तौड़ की रानी पद्मिनी की खूबसूरती से आकर्षित होकर अलाउद्दीन खिलजी किसी भी तरह उन्हें पाना चाहता था. उन्हें पाने के पागलपन में अलाउद्दीन ने चित्तौड़गढ़ पर हमला कर दिया. पद्मिनी के पति महाराजा रतन सिंह और उनके आदमियों ने बहादुरी से युद्ध किया, लेकिन वो खिलजी के हाथों हारे और मारे गए. हालांकि अलाउद्दीन का यह प्रयास विफल रहा क्योंकि चित्तौड़गढ़ किले की अन्य महिलाओं सहित रानी पद्मिनी ने 'जौहर' यानि आत्मदाह कर लिया था.

6.औरंगजेब का राजद्रोह

कहा जाता है कि शाहजहां द्वारा पत्नी मुमताज महल की याद में ताजमहल बनवाने में किए गए बेलगाम खर्च से औरंगजेब परेशान था. इसके अलावा शाहजहां काले ताजमहल को भी बनवाने का ख्वाब रखता था. इससे और भी खर्च होता. भाइयों से सत्ता संघर्ष और पिता का भाई दारा शिकोह के प्रति ज़्यादा स्नेह होने के अलावा औरंगजेब द्वारा पिता शाहजहां को कैद करने और मारने के प्रयासों के पीछे ये भी एक कारण था.

7. सलीम का विद्रोह

Source: fridaytimes

माना जाता है अनारकली से अकबर का बेटा सलीम यानि जहांगीर बेहद प्रेम करता था. उससे शादी करना चाहता था. लेकिन मुग़ल सम्राट इस रिश्ते के लिए किसी हाल में राज़ी नहीं हो रहे थे, क्योंकि अनारकली राजदरबार में नृत्य करती थी. इसलिए सलीम ने अपने पिता यानि सम्राट अकबर के खिलाफ विद्रोह कर दिया गया था, जिसे अकबर ने दबा दिया.

ये वो युद्ध हैं, जो महिलाओं के सम्मान को बचाने और उनके प्रेम का मान रखने के लिए लड़े गए. ये युद्ध इन प्रेरणास्वरुप महिलाओं के साहस, प्रेम और समर्पण के साथ ही हमारे ऐतिहासिक गौरव की गाथा भी सुनाते हैं. अगर आपको भी किसी ऐसे युद्ध की जानकारी है, जो जाने-अनजाने महिलाओं के कारण हुए, तो हमसे ज़रूर शेयर करें.