दुनिया में कई बार कुछ ऐसी घटनाएं होती हैं, जिन पर सहसा ही विश्वास करना असंभव होता है. इन अविश्ववसनीय घटनाओं को मैजिकल रियलिज्म भी कहा जाता है. ये घटनाएं अप्रत्याशित होने के साथ-साथ कई बार इंसान के अदम्य साहस की भी कहानी कहती हैं. हालांकि कई घटनाएं ऐसी भी होती हैं, जहां इंसान की किस्मत उसे लगभग नामुमकिन परिस्थितियों से निकाल बाहर करती है. ऐसे ही कुछ लकी लोग, जिनके लक ने उनकी पूरी ज़िन्दगी को ही बदल कर रख दिया.

लीना पेहेलसन

लीना पेहेलसन ने 16 साल पहले अपनी वेडिंग रिंग को गुमा दिया था. उस समय वह अपने बाग में सब्जियां उगा रही थी. लेकिन एक गाजर उगने के साथ ही साथ लीना की रिंग भी उन्हें वापस मिल गई और इस अप्रत्याशित घटना पर लीना को भी विश्वास नहीं हो पा रहा था.

स्टीव फ्लेग

स्टीव फ्लेग एक हादसे में अपनी मां से बिछड़ गए थे और वे काफी सालों से उनकी तलाश में थे. लेकिन एक विचित्र संयोग की मदद से वे अपनी मां से मिलने में कामयाब रहे. दरअसल स्टीव ने एक बड़े चेन स्टोर में काम करना शुरु किया और अपने बॉस को अपनी आप बीती सुनाई. खास बात ये रही कि स्टीव का बॉस उसकी मां के आखिरी नाम से पहचानता था क्योंकि स्टीव की मां इसी चेन के एक अलग स्टोर में काम करती थी और स्टीव ने कभी सोचा भी नहीं था कि अपने बॉस को अपनी व्यथा सुनाना उसके लिए इतनी बड़ी खुशी लेकर आएगा.

वर्जिनिया

वर्जिनिया हमेशा अपने लॉटरी टिकट के लिए एक ही नंबर का चुनाव करती थी. उनके मां-बाप की शादी को जितने साल हो चुके होते थे, उनका पहला नंबर वही होता था. वहीं दूसरा नंबर शादी के समय इन दोनों की उम्र से जुड़ा था. शादी के समय वर्जिनिया के मां-बाप की जो उम्र थी, वही उनका दूसरा नंबर होता था. हालांकि उनके इस अजीब शौक का परिणाम तब सामने आया, जब 2012 में उन्होंने ऐसे ही दो लॉटरी टिकट खरीदे और दोनो ही नंबरों पर उन्होंने 10-10 लाख की लॉटरी जीती

सोतोमू यामागुची

सोतोमू यामागुची दुनिया के पहले ऐसे शख़्स थे, जो जापान में हुए नरसंहार के बावजूद जिंदा बच निकलने में कामयाब रहे. द्वितीय विश्न युद्ध के समय जापान के हिरोशिमा में जब भयंकर परमाणु बम गिराया गया था, उस समय वे विस्फोट की लोकेशन से 3 किलोमीटर दूर थे और बुरी तरह जल भी गए थे. तीन दिन बाद जब वे अपने ऑफिस नागासाकी पहुंचे तो यहां भी अमेरिका ने बम गिरा दिया लेकिन वे नागासाकी में भी मौत को चकमा देने में कामयाब रहे.

हैरिसन ओक्ने

हैरिसन ओक्ने एक जहाज पर रसोइये का काम करते थे. जब उनका जहाज डूबना शुरु हुआ, उस समय वे बाथरूम में थे और समय पर बाहर नहीं निकल पाए लेकिन सौभाग्य से वे इंजन रूम तक पहुंचने में कामयाब रहे, जहां उन्हें एक एयर बैग मिल गया. हैरिसन को तीन दिनों बाद समुद्र से बाहर निकाला गया. 12 लोगों की टीम में हैरिसन इकलौते ऐसे शख़्स थे जो इस हादसे में बच पाए.

जोएन गिंथर

एक सैल्सवुमेन ने जोएन गिंथर को 50 लाख का लॉटरी टिकट थमाया था. जोएन लॉटरी के मामले में काफी सौभाग्यशाली रहे हैं और वह अब तक लगभग दो करोड़ की राशि केवल लॉटरी के सहारे जीत चुके हैं.

जूलियन कोएपके

1971 में एमेजॉन नदी के ऊपर से गुजरते हुए एक प्लेन क्रैश हो गया था. इस विमान में 17 साल की जूलियन कोएपके भी मौजूद थी. उसे काफी चोटें आई थीं, लेकिन वह प्लेन से बाहर निकलने में कामयाब रही थी. खतरनाक जंगली जानवरों से भरे एक जंगल में जूलियन को कई दिन गुज़ारने पड़े थे. कुछ दिन बाद स्थानीय लोगों की मदद से जूलियन को बचाया जा सका. इस हादसे में जूलियन के अलावा कोई नहीं बच पाया था.

मार्टेन डे जोंग

प्रोफेशनल डच रेसिंग साइकलिस्ट मार्टेन डे जोंग ने काम के सिलसिले में दो मलेशियन एयरलाइंस की अलग-अलग टिकट बुक कराई थी, लेकिन कुछ निजी कारणों के चलते उन्हें दोनों ही टिकटों को रद्द कराना पड़ा. हालांकि उनका ये फैसला सटीक साबित हुआ क्योंकि इस एयरलाइंस का एक हवाई जहाज समुद्र में समा गया, वहीं दूसरा क्रैश हो गया.

रेशमा बेगम

रेशमा बेगम एक फैक्ट्री में बतौर दर्जी काम करती थी. यह फैक्ट्री राना प्लाजा नाम की एक बिल्डिंग में मौजूद थी. 18 मंजिल ऊंची इस इमारत में धमाका होने की वजह से कई लोग मारे गए थे, लेकिन यह रेशमा की खुशकिस्मती ही थी कि वह इस धमाके को झेल गई और मलबे में दब कर रह गई. सौभाग्य से उसे बिल्डिंग में ही थोड़ा सा खाना और पानी मिल गया. 17 दिनों की कड़ी मशक्कत के बाद रेस्क्यू दल के लोगों ने रेशमा को सुरक्षित बाहर निकाल लिया

फ्रेन सेलाक

फ्रेन सेलाक क्रोएशिया में म्यूजिक टीचर हैं और उन्होंने पहली बार मौत को चकमा तब दिया था जब एक ट्रेन तालाब में जा गिरी थी. वह किसी तरह इस हादसे से बच निकलने में कामयाब रहे थे. फ्रेन इसके बाद कई कार क्रैश का भी सामना कर चुके थे, लेकिन वे हर बार बच निकलने में कामयाब रहते. सबसे हैरतअंगेज वाकया तब सामने आया, जब एक प्लेन दुर्घटना का शिकार हो गया था और फ्रेन ने आनन-फानन में प्लेन से बाहर छलांग लगा दी. फ्रेन की खुशकिस्मती थी कि वह सीधे सूखी घास पर जाकर गिरे और उनका कुछ नहीं बिगड़ा, वहीं प्लेन में सवार 19 लोग अपनी जान गंवा चुके थे. वे लॉटरी में 10 लाख रुपये भी जीत चुके हैं

Source: BrightSide