मेक्सिको में एक बच्चा पिछले कुछ समय से हैरतअंगेज़ तरीके से ग्रो कर रहा है और दुनिया का सबसे मोटा बच्चा बनने की राह में आगे निकल चुका है. 10 महीने का ये बच्चा उतना ही मोटा है जितना आमतौर पर 9 साल के बच्चे होते हैं.

24 साल की इसाबेल पंतोज़ा का कहना है कि अपने बेटे में हुई हैरतअंगेज़ ग्रोथ का कारण वो अपना ब्रेस्ट मिल्क समझने लगी थी. इसाबेल ने बताया कि लुईस की इस ग्रोथ को देखकर स्थानीय डॉक्टर्स भी हैरान हैं.

माना जा रहा है कि इस बच्चे को Prader-Willi Syndrome हो सकता है, ये एक ऐसी दुर्लभ जेनेटिक बीमारी है जिसमें बच्चों की मांसपेशियां कमज़ोर पड़ सकती हैं और खाने की बार-बार इच्छा होती है. लेकिन ऐसा नहीं है कि लुईस बहुत ज़्यादा खाता है या खाने की डिमांड करता रहता है. ऐसे में इस बीमारी से डॉक्टर्स भी हैरान हैं.

लुईस के पिता की मासिक आमदनी केवल 200 डॉलर्स है लेकिन लुईस के हॉर्मोनल ट्रीटमेंट की कीमत उनकी सैलेरी से भी कहीं ज़्यादा है. ऐसे में वो उसके इलाज के लिए डोनेशन की भी तैयारी कर चुके हैं. जन्म के समय लुईस का वज़न 3.5 किलो था. लुईस के भाई का वज़न भी जन्म के समय लगभग इतना ही था. 2 महीने की उम्र में लुईस का वज़न 10 किलो था लेकिन अगले आठ महीनों में हैरतअगेंज़ तरीके से उसका वज़न 28 किलो बढ़ गया.

लुईस के पेरेंट्स की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं है, ऐसे में उन्होंने एक फ़ेसबुक पेज तैयार किया है और एक बैंक अकाउंट भी बनाया है ताकि उनके बच्चे की मेडिकल केयर के लिए पैसे डोनेट करने के लिए लोग आगे आ सकें.

इसाबेल का कहना था कि जब लुईस केवल एक महीने का था तब उसे 2-3 साल के बच्चों के कपड़े पहनने पड़ते थे. लुईस को हर हफ़्ते चार बार अस्पताल के चक्कर काटने पड़ते हैं लेकिन इसके बावजूद उन्हें उम्मीद बंधी हुई है. न्यूट्रीशिन में स्पेशलिस्ट सर्जन ने इस परिवार से संपर्क साधा है और वो लुईस का चेकअप करना चाहते हैं.

इसाबेल का मानना है कि उनके बेटे की जान ख़तरे में हो सकती है लेकिन वो अभी अमेरिका में लुईस के टिशू सैंपल परीक्षण का इंतज़ार कर रही हैं. डॉक्टर्स का कहना था कि Prader Willi Syndrome के अलावा ये भी संभावना है कि कि प्रेग्नेंसी के दौरान इसाबेल की डाइट में कुछ खास पौष्टिक तत्वों की कमी हो जिसके चलते बच्चे के Metabolism पर फ़र्क पड़ा हो.

लेकिन बयानों और कयासों के दौर में ये अब तक साफ़ नहीं हो पाया है कि इस बच्चे में अचानक हुई इस ग्रोथ का कारण क्या है. उम्मीद करते हैं कि ये बच्चा एक बार फिर एक सामान्य जीवन बिताने के काबिल हो सके.

Source: Dailymail