दुनिया की पहली हॉस्पिटल ट्रेन त्रिपुरा पहुंच गई है. लाइफ़ लाइन एक्सप्रेस नाम कि ये ट्रेन चुराईबारी रेलवे स्टेशन पर खड़ी है, जहां 2 दिनों में 1000 लोगों का इलाज किया गया है. ये ट्रेन चुराईबारी में 6 जनवरी तक रहेगी.

Source: Indiatimes

लाइफ़ लाइन एक्सप्रेस की शुरुआत 1991 में की गई थी. इसका मकसद देश के दूर-दराज के इलाकों में रहने वाले लोगों तक स्वास्थ्य सेवाएं पहुंचाना है. वर्तमान में इसे Impact India Foundation, रेल और स्वास्थ्य मंत्रालय मिलकर चला रहे हैं.

इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए लाइफ़ लाइन एक्सप्रेस के संयुक्त निदेशक अनिल प्रेम सागर ने कहा, हॉस्पिटल एक्सप्रेस को उत्तरी त्रिपुरा के इस ग्रामीण क्षेत्र में बहुत ही अच्छा रिस्पॉंस मिला है. पहले दिन 400 और अगले दिन 600 लोग यहां इलाज करवाने पहुंचे थे. इस ट्रेन का मकसद उन लोगों तक हेल्थ चेकअप, ऑपरेशन आदि चिकित्सा सेवाएं पहुंचाना है, जिनकी पहुंच से ये बहुत दूर हैं.

Source: African Celebs

उन्होंने आगे बताया कि, 'इन मरीज़ों में से 77 लोगों को मोतियाबिंद की शिकायत है. उनका ऑपरेशन कल किया जाएगा. इस ट्रेन में आंखों के ऑपरेशन के साथ ही प्लास्टिक सर्जरी, ऑर्थोपेडिक सर्जरी, ब्रेस्ट और सर्वाइकल कैंसर का भी इलाज किया जाता है.'

ये ट्रेन मेडिकल सर्विस की अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी से लैस है. अब तक इस ट्रेन के ओपीडी में 10 लाख लोगों का इलाज़ और 1.3 लाख लोगों की सर्जरी की जा चुकी है. हॉस्पिटल ट्रेन अभी तक देश के 20 राज्यों के 184 ज़िलों को कवर कर चुकी है.

Source: The Telegraph

इस ट्रेन में फ़िलहाल 7 डिब्बे हैं और 11 चिकित्सक. ये ट्रेन चुराईबारी में 6 जनवरी तक रहेगी. एक इंटरेस्टिंग फ़ैक्ट ये है कि हॉस्पिटल ट्रेन की देखा-देखी चीन, अफ़्रीका और कंबोडिया में भी ऐसी ट्रेन चलाई जा रही हैं.