दुनिया के हर देश में वहां के नागरिकों की आतंरिक और बाहरी सुरक्षा के लिए ख़ुफ़िया एजेंसी बनाई जाती हैं, जिनका काम होता है किसी भी बड़ी घटना के होने से पहले ही उसका पता लगाकर देश के नागरिकों को सुरक्षित करना. मगर ये काम बेहद ख़ुफ़िया तरीके से किये जाते हैं. ये एजेंसी इन ख़ुफ़िया कामों को ऐसे अंजाम देती हैं, जिसकी लोगों को कानों-कान ख़बर भी नहीं लगती. हमारे और आपके बीच ही इनके एजेंट मौजूद होंगे, लेकिन हमें इसका पता भी नहीं चलेगा. इन एजेंसियों के एजेंट्स कुछ इसी तरह से सीक्रेट काम करते हैं.

आईये जानते हैं दुनिया की 10 सबसे शक्तिशाली ख़ुफ़िया एजेंसियों के बारे में जिनके काम करने के तरीके से आप भी हैरान रह जायेंगे.

1- सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी (सीआईए) - अमेरिका

Source: wikipedia

अमेरिका की ख़ुफ़िया एजेंसी CIA को दुनिया की सबसे ताक़तवर एजेंसी माना जाता है. सीआईए चार हिस्सों में बंटी हुई है. सीआईए डायरेक्टर ऑफ़ नेशनल इंटेलिजेंस को रिपोर्ट करती है. CIA साइबर क्राइम, आतंकवाद रोकने समेत देश की सुरक्षा के लिए काम करती है. CIA पकड़ में आये आतंकियों को ज़बरदस्त तरीके से टॉर्चर करती है. कैदियों को नग्न हालत में कॉरिडोर में घसीटा जाता है, अंधेरे में अकेला रखा जाता है, बहरा कर देने वाला म्यूज़िक सुनाया जाता है और कॉफ़िन साइज़ के बॉक्स में रखा जाता है. साल 2013 में वाशिंगटन पोस्ट ने सीआईए को दुनिया की सबसे अधिक बजट वाली ख़ुफ़िया एजेंसी बताया था. इसका मुख्यालय वॉशिंगटन के पास वर्जीनिया में स्थित है.

2- मिलि‍ट्री इंटेलिजेंस सेक्शन-6 - ब्रिटेन

Source: depositphotos

ब्रिटेन की ख़ुफ़िया एजेंसी MI6 भी दुनिया की सबसे ख़तरनाक सुरक्षा एजेंसियों में से एक है. साल 1909 स्थापित ये दुनिया की सबसे पुरानी ख़ुफ़िया एजेंसी हैं. MI6 ज्वाइंट इंटेलिजेंस, डिफेंस, सरकार के साथ जानकारी साझा करने जैसे काम करती है. इसके अलावा MI6 देश की अन्य आतंरिक सुरक्षा एजेंसियों पर भी नज़र रखने का काम करती है. इस एजेंसी की ख़ासियत ये भी है कि दूसरे देशों की ख़ुफ़िया एजेंसियां भी उनके साथ उनके मिशन में काम कर सकती हैं.

3- इंटर सर्विस इंटेलिजेंस (आईएसआई) - पाकिस्तान

Source: englishkolkata24x7

पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी ISI से तो हर कोई वाक़िफ़ ही होगा. आईएसआई पर हमेशा से ही आतंकवाद को बढ़ावा देने के आरोप लगते रहे हैं. भारत में हुए कई आतंकी हमलों में भी आईएसआई एजेंट्स की भागीदारी पाई गयी है. जबकि ये एजेंसी अपने मज़बूत ख़ुफ़िया तंत्र के लिए दुनिया भर में चर्चित है. पाकिस्तान की सेना और सरकार भी आईएसआई के इशारों पर ही काम करती है. अमेरिकी क्राइम रिपोर्ट ने भी आईएसआई को दुनिया की सबसे ताकतवर एजेंसी बताया था. इसका मुख्यालय इस्लामाबाद में है.

4- MOSSAD- इज़राइल

Source: engarchive.aawsat

मोसाद को दुनिया की सबसे बेहतरीन ख़ुफ़िया एजेंसियों में से एक माना जाता है. इस एजेंसी की सबसे बड़ी ख़ासियत है इसका साइबर सेल. मोसाद को दुनिया की सबसे हाईटेक ख़ुफ़िया एजेंसी माना जाता है क्योंकि इसका आज तक कोई भी ऑपरेशन फ़ेल नहीं हुआ है. मोसाद के एजेंट्स के बारे में कहा जाता है कि ये किसी भी देश में घुसकर दुश्मन को मार गिराते हैं. इन एजेंट्स को किलिंग मशीन भी कहा जाता है. मोसाद आतंक विरोधी मिशन को अंजाम देने के लिए एक साथ कई सीक्रेट ऑपरेशंस भी चलाती है.

5- रिसर्च एंड एनालि‍सिस विंग (रॉ) - भारत

Source: wikipedia

रॉ साल 1968 में अस्तित्व में आयी थी, मगर बहुत कम समय में ही रॉ की गिनती भी दुनिया की सबसे ताकतवर ख़ुफ़िया एजेंसियों में होने लगी है. रॉ आतंकवाद और बाहरी मामलों की गुप्त सूचनाओं पर काम करती है. जबकि देश की आंतरिक सुरक्षा का जिम्मा इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के पास होता है. रॉ देश की सभी आंतरिक सुरक्षा एजेंसियों के साथ मिलकर काम करती है. रॉ ने बांग्लादेश युद्ध के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है.

6- FSB: फ़ेडरल सिक्योरिटी सर्विस (एफएसबी) - रूस

Source: wikipedia

रूस की ख़ुफ़िया एजेंसी FSB इंटेलिजेंस से जुड़े मामलों के अलावा बॉर्डर सिक्योरिटी के मामलों पर भी गहरी नज़र रखती है. ये एजेंसी केवल विदेशी गतिविधियों पर ही काम करती है. सोवियत संघ के पतन के बाद इस एजेंसी ने ही रूस को एक बार फिर से मज़बूत बनाया क्योंकि KGB (Komitet Gosudarstvennoy Bezopasnosti) के बंद होने के बाद रूस की परेशानी बढ़ गयी थी. FSB का मुख्यालय मॉस्को में है.

7- मिनिस्ट्री ऑफ़ स्टेट सेफ़्टी (एमएसएस)- चीन

Source: xibulun

चीन की ख़ुफ़िया MSS के पास काउंटर इंटेलिजेंस ऑपरेशंस, फ़ॉरन इंटेलिजेंस ऑपरेशंस और पॉलिटिकल सिक्योरिटी का ज़िम्मा है. इस एजेंसी को बने अभी ज़्यादा समय नहीं हुआ है, मगर कम समय में ही ये एक ताकतवर ख़ुफ़िया बनकर सामने आ रही है. इसका मुख्यालय बीजिंग में स्थित है.

8- Bundesnachrichtendienst - जर्मनी

Source: regnumru

जर्मनी की ख़ुफ़िया एजेंसी BND को आधुनिक तकनीकों से लैस दुनिया की सबसे बेहतरीन ख़ुफ़िया एजेंसी माना जाता है. इसका गठन 1956 में हुआ था. ये इंटेलीजेंस एजेंसी हर ख़तरे को पहले ही भांप कर उसे बेहद कम समय में ख़त्म कर देती है. इस मामले में ये दुनिया की सबसे शार्प एजेंसी मानी जाती है. BND के पुल्लाक और बर्लिन में दो ऑफ़िस हैं. इसका मुख्यालय म्यूनिख में है.

9- ऑस्ट्रेलियन सीक्रेट इंटेलिजेंस सर्विस (एएसआईएस) - ऑस्ट्रेलिया

Source: sarita.in

ऑस्ट्रेलिया की ख़ुफ़िया एजेंसी ASIS की स्थापना 13 मई 1952 में की गई थी. ASIS की मज़बूती का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ये अब तक अपने देश को अंतर्राष्ट्रीय ख़तरों से बचाए हुए है. इसका कार्यक्षेत्र एशिया और प्रशांत महासागर के क्षेत्र हैं. ASIS की तुलना CIA और MI-6 से की जाती है. इसका मुख्यालय केनबरा में स्थित है.

10- Directorate General for External Security (DGSE) - फ़्रांस

Source: intelligencebriefs

फ़्रांस की इंटेलिजेंस एजेंसी DGSE का मुख्य काम फ़्रांस सरकार के लिए विदेशों से ख़ुफ़िया जानकारी एकत्र करना है. ये सरकार को ISIS की आतंकी गतिविधियों से आगाह करती है. ये एजेंसी अन्य देशों की एंजेसियों से काफ़ी अलग है क्योंकि ये सिर्फ़ बाहरी मामलों पर ही नज़र रखती है. DGSE का मुख्यालय पेरिस में है.