टीम इंडिया में चाहे सचिन हों या कोहली इन दोनों खिलाड़ियों ने कई मौकों पर टीम को अकेले दम पर मैच जिताये हैं. लेकिन जब भी सचिन और कोहली भारत को मैच जीता रहे होते हैं, तो उनके साथ कुछ ऐसे खिलाड़ी छोटी लेकिन अहम साझेदारी निभा जाते हैं जिनके योगदान को अकसर हम भुला देते हैं. बात अगर साझेदारी की हो रही है, तो हम युवराज सिंह और महेंद्र सिंह धोनी की जोड़ी को कैसे भूल सकते हैं. टीम इंडिया के मिडिल ऑर्डर के ये दो खंबे जब भी मैदान पर एक साथ बल्लेबाज़ी करने उतरे हैं भारत को मैच जीताकर ही पवेलियन लौटे हैं. जब-जब टीम इंडिया मुसीबत में होती है ये दोनों लंबी पार्टनरशिप निभाकर टीम की नैय्या पार लगाते आये हैं. इन दोनों की जोड़ी जितनी अच्छी मैदान पर दिखती है उससे कहीं ज़्यादा अच्छी इनकी दोस्ती मैदान के बाहर भी है. धोनी और युवराज अंडर-19 के समय से ही एक दूसरे के साथ क्रिकेट खेल रहे हैं.

धोनी और युवराज की इन 8 यादगार साझेदारियों ने भारत को दिलाई है धमाकेदार जीत

1- वर्ल्ड कप 2011 की शानदार जीत

Source: sportskeeda

साल 2011, वर्ल्ड कप की जीत भला कौन भूल सकता है, धोनी और युवी की जोड़ी ने आख़िरी ओवर तक टिक कर भारत को 28 साल बाद वर्ल्ड कप दिलाया था. 42वें ओवर में गौतम गंभीर के आउट होने के बाद क्रीज़ पर धोनी का साथ देने युवराज सिंह आये उसके बाद ये दोनों मैच ख़त्म करके ही पवेलियन लौटे थे.

2- कटक वनडे में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ 256 रन की लाजवाब पार्टनरशिप

Source: dnaindia

साल 2017, कटक में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ खेले गए मैच में एक समय भारत के 25 रन पर 3 विकेट गिर चुके थे. इसके बाद धोनी और युवी की जोड़ी ने 256 रन की शानदार पार्टनरशिप की बदौलत भारत ने इंग्लैंड को 382 रन का टारगेट दिया. इस मैच में युवराज ने 150 रन, जबकि धोनी ने 134 रन की शानदार पारियां खेली थी. भारत ये मैच 15 रन से जीता था.

3- साल 2005, हरारे में छठे विकेट के लिए 158 रन की पार्टनरशिप

ज़िम्बाब्वे, हरारे में वीडियोकॉन त्रिकोणीय सीरीज़ के एक मैच के दौरान इन दोनों की जोड़ी ने 158 रन की पार्टनरशिप कर भारत को मैच जिताया था. इस मैच में युवराज ने 120 रन जबकि धोनी ने 67 रन की मैच जिताऊ पारी खेली.

4- पाकिस्तान, लाहौर में 13 ओवर में 102 की शानदार पार्टनरशिप

Source: indiatimes

साल 2006, पाकिस्तान टूर के दौरान सीरीज़ के तीसरे मैच में 289 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए इन दोनों ने 102 रन की नाबाद साझेदारी कर भारत को शानदार तरीके से मैच जिताया.

5- कराची में खेले गए आख़िरी वनडे मैच में 146 रनों की ज़बरदस्त पार्टनरशिप

Source: indiatimes

सीरीज़ के आख़िरी मैच में धोनी और युवी ने एक बार फिर 146 रनों की नाबाद पारी खेलकर भारत की सीरीज़ जितायी. युवराज ने 93 बॉल में 107 रन जबकि धोनी ने 56 बॉल में 77 रन बनाये.

6- गुवाहाटी में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ 22 ओवर में 105 रन की पार्टनरशिप

Source: cricwizz

साल 2007, गुवाहाटी में एक बार फिर धोनी और युवी की जोड़ी ने 105 रन की जबरदस्त साझेदारी कर भारत को मैच जिताया. युवराज 58 जबकि धोनी ने 63 रनों की परियां खेली.

7- कानपुर में इसी सीरीज़ के एक अन्य मैच में 100 रन की पार्टनरशिप

Source: indianexpress

भारत और पाकिस्तान के बीच कानपुर में खेले गए मैच में इन दोनों ने 100 रन की साझेदारी कर भारत को एक बार फिर मैच जिताया.

8- साल 2009, दिल्ली में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ 148 रन की शानदार पार्टनरशिप

धोनी और युवराज की जोड़ी ने दिल्ली वनडे में शानदार 148 रन की पारी खेलकर ऑस्ट्रेलिया के 230 रनों के टारगेट को आसानी से हासिल कर भारत को शानदार जीत दिलाई.

धोनी और युवराज की ये जोड़ी वनडे क्रिकेट में भारत की सातवीं सबसे सफ़ल जोड़ियों में से एक है. इन दोनों ने 64 मैचों में 53.52 की शानदार औसत से 3051 रन बनाये हैं. जिसमें 10 बार शतकीय साझेदारी भी हुई है. जबकि इस दौरान अधिकांशतः मैच भारत ने जीते भी हैं.

Source: indiatoday