गृह मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2016 में 55000 बच्चे चोरी होने की घटनाएं सामने आई थीं. ये आंकड़े बताते हैं कि लोगों को अपना बच्चा चोरी होने का डर क्यों रहता है. शायद यही वजह है कि कुछ-कुछ अंतराल के बाद भीड़ द्वार बच्चा चोरी के शक में लोगों को पीटने की ख़बरें आती रहती हैं.

महाराष्ट्र के ठाणे में भी किडनैपिंग का एक मामला सामने आया है लेकिन उस बच्चा चोर के मंसूबे पर एक 10 साल के बच्चे ने पानी फेर दिया. ये घटना पुणे के मुंब्रा इलाके की है.

Source: thebetterindia

बाहर खेल रहे थे बच्चे

बच्चे के पिता ख़ुरशीद वारसी ने मुंबई मिरर को बताया कि उनका परिवार ज़रीना अपार्टमेंट में शादी अटेंड करने आया था. यहीं फ़ंक्शन में शामिल होने आए रिश्तेदारों के बच्चे बाहर खेल रहे थे. इनमें खुरशीद वारसी का बड़ा और छोटा बेटा भी था. दिन के करीब 1.30 बजे बुर्का पहने एक महिला बच्चों के पास आई और ढाई साल के बच्चे के साथ खेलने लगी.

चॉकलेट दिलाने का बनाया बहाना

फिर अचानक वो उसे उठाकर ले जाने लगी. जब बड़े भाई ने महिला को छोटे भाई को ले जाते देखा, तो उसके मन में संदेह हुआ. उसने महिला से पूछा कि वो उसे कहां ले जा रही है. महिला ने जवाब दिया कि वो उसे चॉकलेट दिलाने ले जा रही है.

Source: storypick

बड़े भाई ने किया पीछा

फिर बड़ा भाई उस महिला का पीछा करने लगा और अपने कजिन ब्रदर को परिवार वालों को बुलाने के लिए कहा. जब महिला ने देखा कि उसके पीछे लोग आ रहे हैं, तो वो छोटे बच्चे को नीचे छोड़कर फ़रार हो गई. ये पूरी घटना इलाके में लगे एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई.

बच्चे की फ़ैमिली ने अभी कोई एफ़आईआर दर्ज नहीं कराई है, लेकिन ठाणे पुलिस मामले की गंभीरता को देखते हुए महिला की तलाश में जुटी है.

Source: Mumbaimirror