क्रिकेट पैसे वालों का गेम नहीं है लेकिन अगर आपके पास पैसा है तो क्रिकेट खेलने के मज़े ही कुछ और हैं. आपको मिलाते हैं देश के बड़े और सबसे पुराने उद्योग घरानों में से एक आदित्य बिड़ला समूह के कुमार मंगलम बिड़ला के बेटे आर्यमन विक्रम बिड़ला से. जनवरी 2015 में इंदौर में हुए अंडर-18 हीरालाल गायकवाड़ ट्रॉफी के लीग मैच की चर्चा काफ़ी रही थी. इस मैच में तीन लाख करोड़ रुपए के कारोबार वाले आर्यमन रेस्ट ऑफ एमपी की टीम से खेल रहे थे. वे मैच खेलने चार्टर्ड प्लेन से आए थे.

सुरक्षा गार्ड की मौजूदगी में क्रिकेट खेलते हैं

आर्यमन बिड़ला चार्टड प्लेन से मुंबई से इंदौर खेलने पहुंचे थे. उनके लिए ख़ासतौर पर मुंबई से एक आलीशान मर्सिडीज़ कार भी भेजी गई थी. वे इसी मर्सिडीज़ में निजी सुरक्षा गार्ड्स के साथ मैदान आते थे और मैच ख़त्म होने तक उनके दो गार्ड मैदान के बाहर तैनात रहते थे.

इंदौर में आर्यमन का ननिहाल है

आर्यमन का ननिहाल इंदौर में ही है. वे एस. कुमार समूह के संस्थापक शंभू कुमार कासलीवाल जी के नाती हैं.

आर्यमन का व्यवहार काफ़ी मिलनसार था

बिड़ला घराने से जुड़े होने के बाद भी आर्यमन घमंडी नहीं हैं. उनके साथी खिलाड़ी बताते हैं कि आर्यमन एकदम पोलाइट हैं. वह थोड़ा शर्मीला ज़रूर है, लेकिन सबके साथ घुल-मिल जाता है.

आर्यमन को गाने का शौक भी है

आर्यमन को बचपन से गाने का बहुत शौक था और क्रिकेट का भी. मगर क्रिकेट की दीवानगी गायन से ज़्यादा थी. आर्यमन रवि शास्त्री की तरह लेफ्ट आर्म स्पिन बॉलर हैं और शिखर धवन की तरह लेफ्ट हेंड बैट्समैन.

Story Source: bhaskar