आख़िरकार कई घटनाओं और हादसों से सबक लेते हुए, मुंबई के उपनगरीय रेलवे नेटवर्क में पहली बार Peak Hours के दौरान, अंधेरी स्टेशन पर महिला यात्रियों के सीढ़ियां आरक्षित की गई हैं.

दरअसल, चर्चगेट के सामने बने साउथ ओवरब्रिज की सीढियां, जो कि प्लेटफ़ॉर्म नबंर 8 और 9 की ओर जाती हैं, उसे महिलाओं के लिए सुरक्षित कर दिया गया है. इससे महिला कोच भी करीब पड़ता है. सुबह के वक़्त करीब आधा घंटा और शाम लगभग एक घंटे महिलाएं इस सुविधा का लाभ उठा सकती हैं.

ग़ौरतलब है, मुंबई में एल्फिंस्टन रोड और परेल उपनगरीय रेलवे स्टेशनों को जोड़ने वाले फु़टओवर ब्रिज पर हुए हादसे में करीब 23 लोग मारे गए थे. इस हादसे से सबक लेते हुए ये अहम फ़ैसला लिया गया. पश्चिम रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, अंधेरी स्टेशन स्थित साउथ ओवरब्रिज जो कि प्लेटफ़ॉर्म नबंर 8 और 9 को जोड़ता है, वो बहुत ही छोटा और संकर्णी है. आगे बताते हुए उन्होंने ये भी कहा कि अंधेरी से विरार तक का रूट काफ़ी भीड़-भाड़ वाला है.

Source: thehindu
अधिकारी ने बताया कि चर्चगेट और बांद्रा में होने वाली भीड़ को देखते हुए ये फ़ैसला लिया. इस फ़ैसले का मकसद महिला और पुरुष यात्री को अलग-अलग करना था. फ़ुटओवरब्रिज पर 10 से 15 कांस्टेबल को नियुक्त किया गया, जो महिला सीढ़ी पर पुरुषों को चढ़ने से रोकेगें, साथ ही महिलाओं की सुरक्षा भी करेंगे.

महिला यात्रियों ने वेस्टन रेलवे की इस पहल इसका स्वागत किया है. श्रुति शाह कहती हैं कि 'महिलाओं के लिए काफ़ी राहत की बात है और इस तरह की पहल अन्य भीड़-भाड़ वाले स्टेशनों पर भी की जानी चाहिए.'