योगी आदित्यनाथ सरकार ने अयोध्या (कुछ दिनों पहले तक फ़ैज़ाबाद)में मांस और शराब की बिक्री रोकने का निर्णय लिया है.

HT के अनुसार, इसी तरह का बैन कृष्ण जन्मभूमि मथुरा और राज्य के अन्य पवित्र स्थलों पर भी लगाया जा सकता है.

उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा,

सरकार अयोध्या ज़िले में शराब और मांस की बिक्री पर पूरी तरह से पाबंदी लगाने पर गंभीरता से विचार कर रही है.
Source: NDTV

फ़िल्हाल ये पाबंदी सिर्फ़ अयोध्या टाउन में ही लगी है.

राज्य के कोने-कोने से संत मांस और शराब की बिक्री पर पूरी तरह से बैन लगाने की मांग कर रहे हैं. मथुरा के साधु-संतों ने कृष्ण जन्मस्थली में मांस और शराब की बिक्री पर पाबंदी लगाने की मांग की है.

मथुरा के तीर्थ स्थलों, वृंदावन, गोवर्धन, बरसाना में मांस और शराब की बिक्री पर पहले से ही पाबंदी है.

Source: India.com

दिवाली से पहले फ़ैज़ाबाद ज़िले का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया गया. इसके बाद अयोध्या के कई संतों ने सरकार के सामने ये मांग रखी कि राम जन्मभूमि को पवित्र करने के लिए मांस और शराब पर पाबंदी लगानी चाहिए.

शराब और मांस पर पाबंदी लगने के बाद सैंकड़ों लोग बेरोज़गार हो जाएंगे. सरकार को बेरोज़गारों की बढ़ने वाली संख्या के लिए भी कुछ करना चाहिए.

Feature Image Source: BBC