आये दिन ऐसी खबरें आती रहती हैं कि फलां-फलां स्टूडेंट ने अच्छे मार्क्स न आने या पढ़ाई के तनाव के चले आत्महत्या कर ली. ज़्यादा दूर जाने की ज़रूरत नहीं है, पिछले महीने ही ख़बर आयी थी कि आईआईटी दिल्ली के एक स्टूडेंट ने पढ़ाई के दवाब और तनाव के कारण आत्महत्या कर ली. लेकिन ऐसा क्यों आखिर क्यों आज की युवा पीढ़ी इतनी कमज़ोर हो गई है कि वो आत्महत्या को किसी भी समस्या का सबसे आसान समाधान मानने लगी है. वहीं एक सवाल ये भी उठता है कि क्या हमारा एजुकेशन सिस्टम उतना शशक्त नहीं है या इस सिस्टम में खामियां हैं?

पिछले कुछ महीनों में एकेडमिक प्रेशर का सामना करने में असमर्थ कई युवाओं ने इससे निपटने के लिए अपनी जान ले ली. देश में ऐसी घटनाओं की संख्या पहले के मुक़ाबले बहुत अधिक हो गयी है. ऐसा लगता है मानों आज के छात्रों के पास केवल एक ही रास्ता बचा है.

लेकिन अपने वीडियो से हमेशा चर्चा में रहने वाले और देश और देश की जनता को पॉज़िटिव मेसेज देने वाले एक सेलिब्रिटी ने हताश छात्रों का उत्साहवर्धन करने की कोशिश की है. ये इंसान है बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार. उन्होंने युवाओं को सन्देश दिया है कि 'एक बार अपनी मार्क-शीट और ग्रेड से बाहर निकलकर देखें और एक अच्छी ज़िन्दगी की खोज करें.'

इससे पहले भी सोशल मीडिया पर अक्षय कई अहम मुद्दों फिर चाहे वो देश के वीर जवानों की कुर्बानी क बात हो या फिर शौचालयों बारे, वो अक्सर वीडियो के ज़रिये सन्देश देकर लोगों को जागरुक करने का काम कर चुके हैं. और अब वो अपने नए वीडियो में देश के छात्रों द्वारा पढ़ाई या रिलेशनशिप के दवाब की वजह से सुसाइड की बढ़ती संख्या के बारे में बात कर रहे हैं.

इस वीडियो के ज़रिये उन्होंने स्टूडेंट्स को ये भी समझाने की कोशिश की है कि अपनी समस्यों के समाधान के लिए किसी की मदद लेने में कोई शर्म नहीं करनी चाहिए.

हम आशा करते हैं कि ये वीडियो स्टूडेंट्स और उनके पेरेंट्स दोनों की ये समझने में मदद करे कि बच्चों को पेरेंट्स की और पेरेंट्स को बच्चों की परेशानियों को समझना चाहिए.