शराब स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है. ये बात सभी जानते हैं, लेकिन इसके बावजूद कई लोग शराब पीते हैं. इसी पर WHO यानि वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़ेशन की एक रिपोर्ट आई है. जिसमें ये बताया गया है कि हर साल शराब पीने से 2 लाख 60 हजार भारतीयों की जान चली जाती है. जिसमें लीवर ख़राब, कैंसर और रोड एक्सीडेंट जैसे मुख़्य कारण हैं. इन आंकड़ों में पुरुषों की संख्या ज़्यादा है. इन आंकड़ों में 3/4 पुरुष हैं. शुक्रवार को आई इस रिपोर्ट के बाद हेल्थ एक्सपर्ट तंबाकू की तर्ज़ पर 'नेशनल एल्कोहल कंट्रोल पॉलिसी' की डिमांड कर रहे हैं.

Source: Twitter

टाटा मेमोर‍िसल हॉस्‍प‍िटल के ओरल कैंसर सर्जन डॉ. पंकज चतुर्वेदी कहते हैं कि 'पूरे देश में शराब पीने के अलग-अलग नियम हैं. महाराष्ट्र में शराब पीने की लीगल उम्र 25 साल है, तो वहीं गोवा में 18 साल के लोग शराब पी सकते है. उन्होंने कहा कि अब वक्त आ गया है कि पूरे देश में शराब पीने की एक स्टैंर्ड उम्र हो. साथ ही इसके मानकीकरण के लिए एक लिए केंद्रीय कानून सेंट्रल लॉ बने.'

Source: InsureForAll

WHO की इस रिपोर्ट के मुताबिक, पूरी दुनिया में शराब पीने से हर साल 30 लाख लोग मरते हैं. जिसमें तकरीबन 23.7 करोड़ पुरुष और 4.6 करोड़ महिलाएं हैं. इनमें ज़्यादातर लोग यूरोप और अमेरिका में रहने वाले हैं. हर दिन पूरी दुनिया में लगभग 6000 लोग मरते हैं. जिसमें 28% लोग चोट लगने के कारण मर जाते हैं. इनमें ट्रैफिक, ख़ुद को चोट पहुंचाना और हिंसा शामिल है. 21% लोग डाइजे़शन डिसऑर्डर के कारण, 19% लोग ह्रदय संबंधित और बाकी लोगों को शराब से कैंसर हो जाता है, जिसके कारण उनकी मृत्यु हो जाती है. वहीं दुनिया में हर 20 मौतों में से होने वाली 1 मौत शराब के कारण होती है.

Source: Pinterest

हर साल इंडिया में लगभग 1 लाख रोड एक्सीडेंट शराब के कारण होते हैं. इसके अलावा लगभग 30,000 लोगों शराब की वजह से कैंसर हो जाता है. वहीं सबसे ज़्यादा लोग लीवर ख़राब होने से मर जाते हैं. ये आंकड़ा हर साल लगभग 1.4 लाख के आसपास रहता है.

Source: Bloomberg

पब्लिक हेल्थ फाउंडेशन ऑफ़ इंडिया की डॉक्टर मोनिका अरोड़ा कहती हैं कि रिपोर्ट्स के मुताबिक, आजकल टीनेजर ज़्यादा नशे वाली यानि स्ट्रॉन्ग शराब पी रहे हैं.

Feature image: Pinterest