कुछ कलाकार अपने वक़्त से सदियों आगे की बात करते हैं, कुछ पुरानी बातों को नए ढंग से बयां करके दिल जाते हैं. कुछ कलाकार अपने वक़्त में जो रचते हैं, वो बेमिसाल होता है और वही रचनाएं सदियों बाद अलग अर्थ ले लेती हैं. अल्ताफ़ राजा उन्हीं कलाकारों में से हैं. पहले उनके गाने बच्चे-बच्चे को नर्सरी की कविता की तरह याद थे, आज वही बच्चे बड़े होकर उन गानों पर Meme बना रहे हैं. क्योंकि उन बच्चों ने अल्ताफ़ राजा के गानों का दूसरा अर्थ ढूंढ लिया है.

Design: Nupur Agrawal