मानव और पशुओं के बीच का प्रेम सदियों से चलते आ रहा है. मानवों ने अपनी सुविधा के लिए कुछ जानवरों को पालतू भी बनाया है. बदले में जानवरों को खाना और रहने के लिए छत दी है. लेकिन आज हम आपको एक ऐसी जनजाति के बारे में बताने जा रहे हैं जो जंगली जानवरों के साथ काफ़ी हैरतअंगेज़ तरीके से रहती है.

पूर्वी ब्राज़ील के पास अमेज़न के जंगलों में रहने वाली जनजाति जानवरों से इतनी घुली-मिली है कि कई औरतें जानवरों को अपना दूध तक पिलाती हैं. जानवर भी इसके बदले जनजाति की मदद करते हैं और उन्हें ऊंचे पेड़ों से फल तोड़ कर देते हैं. इस जनजाति को 'आवा ट्राइब्स' के नाम से जाना जाता है. इस जनजाति से जुड़ी कई और बातें हैं जिन्हें जान कर आप और हैरान हो जाएंगे.

1. वर्तमान में इस जनजाति के सिर्फ़ 500 सदस्य ही बचे हैं

इनके क्षेत्र में बाहरी इंसानों के दखल से अब सिर्फ 500 ही आदिवासी बचे हैं. ये लोग पूरी तरह जंगल पर निर्भर होकर ज़िंदगी जीते हैं. कई जगहों पर इनकी ज़मीन पर भी कब्ज़ा कर लिया गया है.

2. जंगली जानवरों को बच्चों की तरह पालते हैं

परिवार में जैसे बच्चों को दूध पिलाते हैं, वैसे ही इस जनजाति की महिलाएं जानवरों को अपना दूध पिलाती हैं.

3. डोनेनिको पुगलीज ने कैद की फ़ोटोज़

अंग्रेज़ी अख़बार डेली मेल की एक रिपोर्ट के अनुसार, आवा जनजाति पर पूरी तरह ख़त्म होने का संकट मंडरा रहा है. फोटोग्राफर डोनेनिको पुगलीज ने बताया कि वे बहुत किस्मती थे कि उन्हें इस जनजाति की तस्वीरें कैद करने का मौका मिला, क्योंकि बहुत कम लोगों को अब तक इस जनजाति के करीब जाने का मौका मिला है.

4. पुरी तरह से जंगल पर निर्भर है ये जनजाति

इस जनजाति की ख़ासियत है कि यह पूरी तरह से दुनिया से कटा हुआ है. ये लोग पूरी तरह जंगल पर निर्भर होकर जिंदगी जीते हैं. कई जगहों पर इनकी जमीन पर भी कब्जा कर लिया गया है.

Image Source: dailymos
Story Published on bhaskar