सलाह एक ऐसी चीज़ है, जो अकसर लोग बिना मांगे ही देने लगते हैं. किसी की सलाह सुनना ठीक है, पर पूरी तरह से उस पर अमल करना ठीक नहीं है. ख़ास कर स्किन के मामले में किसी से सलाह न लें, तो ही बेहतर होगा. कई बार दोस्त-यार या रिश्तेदार स्किन को लेकर बहुत सी चीज़ें बताते रहते हैं और हम उन्हें मान भी लेते हैं. वो भी इस बात पर ग़ौर किये बिना कि इससे हमारी स्किन को नुकसान हो सकता है.

अकसर स्किन केयर को लेकर कही गई बातें सच नहीं, बल्कि महज़ मिथक होती हैं:

1. फे़यरनेस क्रीम गोरा बनाती है

अगर फ़ेयरनेस क्रीम किसी को गोरा बना सकती, तो शायद आज दुनिया में कोई संवाला नहीं होता. दरअसल, फे़यरनेस क्रीम हमारे चेहरे से सिर्फ़ पिग्मेंटेशन हटाने का काम करती है. जिससे आपकी बेरंग स्किन पर एक रंग आ जाता है. इसलिये आप जैसे हैं, वैसे ही दुनिया के सामने रहना सीखें.

Source: deccanchronicle

2. अधिक SPF वाला सनस्क्रीन बचाव करता है

सूर्य से यूवीए, यूवीबी और यूवीसी तीन तरह की किरणें निकलती हैं, जो हमारी स्किन के लिये काफ़ी ख़तरनाक है. इन सभी किरणों में हमारे लिये यूवीए सबसे ज़्यादा घातक है. वहीं सनस्क्रीन में मौजूद SPF हमें यूवीबी किरणों से बचाता है न कि यूवीए. इसलिये इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ता है कि आप कितने SPF वाला सनस्क्रीन ले रहे हैं. हांलाकि, अगर ख़रीदना है, तो 15 SPF वाला सनस्क्रीन लें.

3. धूप न हो, तो सनस्क्रीन लगाने की ज़रूरत नहीं होती

कोई चाहे कितना ही बोले, लेकिन घर से बाहर निकलते समय समस्क्रीन ज़रूर लगायें. वो इसलिये, क्योंकि सूर्य से निकलने वाली किरणें हम पर तब भी पड़ती हैं, जब बादल छाये हों.

Source: skincancer

4. पानी स्किन हाइड्रेट रखता है

ये बात सही है कि पानी शरीर को हेल्दी रखता है, लेकिन पानी से हमारी स्किन को नमी नहीं मिलती. स्किन को नमी प्राकृतिक रूप से निकलने वाले तेल से या मॉइश्चराइज़र से मिलती है. इसलिये त्वचा में नमी बनाये रखने के लिये मॉइश्चराइज़र लगाना न भूलें.

Source: goodhousekeeping

5. ऑयली स्किन वालों को मॉइश्चराइज़र नहीं लगाना चाहिये

स्किन में नमी का बैलेंस बनाये रखने के लिये मॉइश्चराइज़र लगाना ज़रूरी होता है. इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ता कि आपकी स्किन ऑयली है या नहीं.

Source: lorealparisusa

6. कैमिकल्स बेस्ड ब्यूटी प्रोडक्ट्स से स्किन ख़राब होती है

कैमिकल्स बेस्ड ब्यूटी प्रोडक्ट्स लैब में विशेषज्ञों की निगरानी में बनाये जाते हैं. मार्केट में उतारने से पहले इन प्रोडक्ट्स को स्किन पर टेस्ट भी किया जाता है. इसलिये इन्हें स्किन पर लगाने पर कोई रिस्क नहीं होता.

Source: hermoney

7. स्क्रब से हटते हैं ब्लैक हेड्स

ऐसा बिलकुल भी नहीं है. स्क्रब ब्लैक हेड्स की बाहरी सतह को घिसकर ख़त्म करते हैं. इसलिये इन्हें हटाने के लिये आपको स्किन एक्सपर्ट से मिलना चाहिये.

Source: soaperduper

अब समझ गये न कि सुनी-सुनाई बातों में कितना फ़र्क होता है!

Lifestyle के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.