हाय दइया, का बोले, भरभूति जी आप क्या बोलते हैं हमको कछु समझ नहीं आता, लड्डू के भईया आज खोखे पर नाही जाना है का... अब आप सोचेंगे कि ये हम क्या सब लिखे जा रहे हैं? कुछ समझ आया कि हम क्या कहना चाह रहे हैं?

Source: charmboard

जी हां, सही पकड़े हैं

हां जी, हम बात कर रहे हैं 'भाभी जी घर पर हैं' सीरियल की जिसमें कानपुर की एक पॉश कॉलोनी दिखाई गई है. इस कॉलोनी में दो मिडल क्लास परिवार रहते हैं. एक परिवार में हैं अंगूरी भाभी और उनके पति मनमोहन तिवारी और दूसरे में, अनीता और उनके पति विभूति नारायण मिश्रा. इन दोनों परिवारों के मर्द यानी मनमोहन तिवारी और विभूति नारायण एक-दूसरे की पत्नियों को लाइन मारते रहते हैं. वैसे तो 'भाभी जी घर पर हैं' का हर किरदार अपने आप में ख़ास है, लेकिन अंगूरी भाभी का कोई जोड़ नहीं है.

अंगूरी भाभी एक देसी महिला है

Source: newstracklive

वो रोज़ सुबह तुलसी जी के आगे दीया जलाती है. फिर अपने पेड़ों को पानी देती है और बिना लय-ताल के गाना गाती है. अंगूरी भाभी हमेशा साड़ी पहनती है और सोलह श्रृंगार करती है. अपने पति के ख़िलाफ़ कुछ नहीं सुन सकती. उसके लिए उसका पति ही उसका देवता है.

अंगूरी भाभी की अंग्रेजी तो कमाल है

वैसे तो अंगूरी भाभी एक साधारण सी ग्रहणी है और ज़्यादा पढ़ी-लिखी भी नहीं है, लेकिन उसको अंग्रेज़ी बोलना बहुत पसंद है और इसी वजह से वो बातों-बातों में अंग्रेज़ी के शब्दों का ऐसा यूज़ करती है कि उसका मतलब ही बदल जाता है. वो हमेशा ग़लत जगह पर ग़लत शब्द बोलती है. जब उसको Important (महत्वपूर्ण) बोलना होता है, तो वो Impotent (नामर्द) बोल देती है, और जब उसको New Year बोलना होता है, तो वो Nude Year बोल देती है. वो इतनी भोली है कि उसको पता भी नहीं होता कि उसने कुछ ग़लत बोला है.

उसको धमकी देना भी आता है

Source: charmboard

जब मनमोहन तिवारी अंगूरी भाभी की कोई बात नहीं मानता है, तो वो तुरंत ही 'अम्मा जी को फोन मिलाए क्या...' बोल कर अपनी बात मनवा लेती है. उसको पता है कि उसके पति को केवल अम्मा जी की पिटाई का ही डर लगता है.

पर वो पतिव्रता भी है

Source: charmboard

अंगूरी अपने लड्डू के भईया यानी कि तिवारी जी से बहुत प्यार करती है और उनकी तरक्की, लम्बी उम्र और अच्छी सेहत के लिए कुछ भी करने को तैयार रहती है. इसके लिए कभी वो मवाली औरत बन जाती है, तो कभी मौन व्रत धारण कर लेती है. पति की भलाई का झांसा देकर उसको कोई भी बेवकूफ़ बना देता है. इतना ही नहीं एक बार तो लड्डू के भईया के लिए वो पुरुषों के टॉयलेट में भी घुस गई थी. पति के लिए ये अजीबोगरीब उपाय करने के लिए उसकी प्यारी अम्मा जी अपने प्यारे पंडित रामफल से पूछ कर बताती हैं.

अब्वल दर्जे की बौड़म है अंगूरी भाभी

अगर बौड़मपने का कोई मुकाबला होता तो अंगूरी भाभी के आगे कोई टिक नहीं सकता है. अनिता भाभी के पति यानी अपने विभूति नारायण अंगूरी भाभी के पीछे लट्टू हैं. वो हमेशा भाभी जी को अपने झांसे में फांसने की कोशिश करते हैं और भाभी जी को पता नहीं चलता कि वो क्या करने की कोशिश कर रहे हैं. वो बस क्या बोले, हाय दइया बोलकर चुप हो जाती है. भाभी जी की सिधाई का फ़ायदा उठाकर विभूति नारायण लड्डू के भइया के लिए मुसीबतें पैदा करता रहता है. और वो Thank You Very Much की जगह हमेशा बोलती है Thank You Very Smooch!

भाभी का स्टाइल निराला है

अंगूरी भाभी का बोलने का अंदाज़ हर किसी के चेहरे पर मुस्कान ले आता है. उसका वो हंसते हुए सही पकड़े हैं बोलना, लड्डू के भईईया, भरभूति जी को नल्ला बोलना, हम आपकी शिकायत अम्मा जी से करेंगे, ये सब बोलते हुए उसके चेहरे की मासूमियत सबको भा जाती है. जब वो मटक-मटक का चलती है, तो लोगों के दिलों पर बिजलियां गिर जाती हैं. खाना बनाते हुए उसका गुनगुना तो बहुत मज़ेदार है.

एक शायर भी है उनके अंदर

अंगूरी भाभी की शायरी सुनने के बाद कोई भी बेहोश हो सकता है. उनकी हर शायरी में लड्डू के भैया ज़रूर घुस जाते हैं. एक तो आप भी सुन लीजिये,

कर्ज़ किया है

वैसे तो एक शादी-शुदा महिला में जो-जो गुण होने चाहिए वो सब अंगूरी भाभी में हैं. पर क्या ऐसी महिला असलियत में सोसाइटी में रह पाएगी.

पर जाते-जाते कहना पड़ेगा कि जो भी हो अंगूरी भाभी है एकदम ढिंचैक, क्यों सही पकड़े हैं न...