दुनिया के कई देशों में जानवरों को अवैध रूप से पकड़ कर कत्लगाहों के बाज़ार पहुंचाने का करोबार फल-फूल रहा है. इससे कई जानवर लुप्त होने की कगार पर पहुंच चुके हैं. लॉस एंजलिस की फ़ोटोग्राफ़र नताशा विल्सन ने ब्लैक मार्केट से बचाये हुए ऐसे ही जानवरों के साथ एक फ़ोटो सीरीज़ तैयार की है. इस बाबत नताशा ने कैलिफ़ोर्निया की एक वाइल्डलाइफ़ सैंक्चुअरी Animal Tracks से सम्पर्क किया. यहां पर ब्लैक से बचाये गए जानवरों को लाया जाता है. नताशा इन जानवरों के साथ एक फ़ोटो सीरीज़ करना चाहती थी, जिसके लिए अधिकारियों ने अनुमति दे दी. इसके बाद नताशा 19 मॉडल्स के साथ फोटो सीरीज़ के लिए पहुंच गई और ख़ूबसूरत तस्वीरों का एक कलेक्शन तैयार किया.

आज हम आपके लिए इसी फ़ोटो सीरीज़ में से कुछ तस्वीरें ले कर आये हैं, जिन्हे देख कर आप भी कहेंगे सच में इन जानवरों को मारने के बारे में कोई सोच भी कैसे सकता है?

कुछ चीज़ों को कहने के लिए लफ्ज़ नहीं होते.

ख़ामोशी से बात करता एक चेहरा.

कई बार आंखे ही कुछ कहने के लिए काफ़ी होती हैं.

जन्नत की एक तस्वीर.

एहसासों को गोद में मिला एक सहारा.

खुद में विश्वास ढूंढ़ती एक जोड़ी.

भूख.

प्रेम की एक परिभाषा ये भी.

डर के बीच पनपता एक प्यार.

जब आप एक-दूसरे पर भरोसा करने लग जाए.

पाकीज़गी.

ख़्वाब और नींद का एक साथ.

Source: metrouk