ऊंचाइयों को छूने के लिए ज़रूरी नहीं है कि बड़ी जगह से ही ताल्लुक रखते हों. कभी-कभी छोटे शहरों से भी बड़े चेहरे निकल कर सामने आते हैं. नेपाल के एक छोटे गांव में रहने वाली अंजलि लामा ने कभी नहीं सोचा होगा कि वो अपने जीवन में ऐसा कुछ कर पाएगी. 32 साल पहले एक किसान परिवार में लड़के के रूप में जन्म लेने वाली अंजलि ने बहुत लम्बा मुकाम तय किया है. अंजलि दुनिया की पहली ऐसी ट्रांसजेंडर मॉडल होंगी, जो लैक्मे फैशन वीक 2017 में रैंप पर शिरकत करेंगी.

Source: News18

शुरू-शुरू में वो ख़ुद को पहचान नहीं पाई थीं, उन्होंने भी सोचा था कि वो अपनी ज़िंदगी अपने पिता और अपने भाई की तरह खेती करते हुए बिताएंगी. पर जब उन्होंने कॉलेज जाना शुरू किया, तब उन्हें इस बात का एहसास हुआ कि वो ट्रांसजेंडर हैं. काठमांडू की एक संस्था Blue Diamond Society जो LGBT के अधिकारों के लिए काम करती है, ने भी अंजलि को आगे बढ़ने में बहुत मदद की. अंजलि का लिंग परिवर्तन 2010 में हुआ. प्रतिभाशाली और टैलेंटेड होने के बावजूद भी लामा ने जब सेक्स चेंज करवाने के बाद मॉडलिंग शुरू की, तो उन्हें कई जगहों पर रिजेक्ट किया गया.

Source: News18
मैंने ट्रेनिंग भी की, पर इसके बावजूद कहीं से मुझे कोई काम नहीं मिल रहा था. जब मैंने अपने एजेंसी के मालिक से पूछा कि मेरा सेलेक्शन क्यों नहीं हो रहा है, तो उसने बताया कि इन सब के पीछे मेरी ट्रांसजेंडर वाली पहचान है. जब यही प्रश्न मैंने फैशन शो के दौरान जजों से पूछा तो उन्होंने कहा कि तुम्हारी परफॉरमेंस अच्छी है, पर तुम्हें स्वीकार नहीं किया जा सकता. - अंजलि लामा

इतनी नाकामियों के बावजूद भी अंजलि ने आस नहीं छोड़ी और 2016 के लैक्मे फैशन वीक से रिजेक्ट होने के बाद वो अगले साल की तैयारियों में जुट गयीं. उन्होंने मॉडलिंग के इंटरनेशनल गुर सीखे और कड़ी मेहनत भी की. फिर लगभग 100 अन्य प्रतिभागियों के साथ हुए ऑडिशन में उनका सेलेक्शन लैक्मे फैशन वीक समर 2017 में हो गया. अंजलि इसकी अच्छी तैयारियों के लिए मुंबई आ गयी हैं.

Source: News18

भविष्य में अंजलि मशहूर फैशन डिज़ाइनर मनीष मल्होत्रा के साथ काम करना चाहती हैं. आने वाले दिनों में अगर अंजलि किसी बड़ी कंपनी के लिए मॉडलिंग करती नज़र आती हैं तो ये सब उनकी मेहनत का नतीजा होगा. हम उनको उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं देते हैं.

Source: Topyaps