पासपोर्ट का नाम सुनते ही सबसे पहले ऑफ़िस के बाहर खड़ी लम्बी लाइन और दस्तावेज़ों के भरी फ़ाईल ध्यान में आती है. लेकिन सरकार इन सब से आम लोगों को उबारने का काम कर रही है. इसी कड़ी में सरकार ने नया फैसला लिया है.

पासपोर्ट के लिए अब बस आपको घर के पास वाले पोस्ट ऑफ़िस जाने की देरी है. जी हां, भारत सरकार ने 31 मार्च तक इसे लागू करने का मन बना लिया है. सरकार पासपोर्ट बनाने की सुविधा को और आसान बनाना चाह रही है. इसके लिए अब देश के डाकघरों में भी पासपोर्ट बनने शुरू हो जाएंगे. केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है कि 31 मार्च से पहले देश के कई डाकघरों के जरिये पासपोर्ट संबंधी सेवाएं शुरू की जाएंगी.

अभी इसे पूरे देश में एकसाथ नहीं शुरू किया जाएगा. योजना के पहले चरण में इसे कोटा, जैसलमेर, बीकानेर, झुंझुनू और झालवाड़ में शुरू किया जाएगा.

उन्होंने एक और ट्ववीट कर कहा कि यह हमारा प्रयास है कि 'पोस्ट ऑफिस पासपोर्ट सेवा केन्द्र' जिसकी घोषणा पहले चरण में की गई थी, वह 31 मार्च से पहले ही शुरू हो जाएं.

इसके साथ ही उन्होंने नए खोले गए इन केन्द्रों की सूची भी विदेश मंत्रालय की वेबसाइट पर पोस्ट की है.

पासपोर्ट बनवाने में लोगों के पसीने छूट जाते थे, लेकिन सरकार के इस फैसले से शायद इसमें थोड़ी राहत मिले.