जवाहरलाल नेहरू यूनिसर्सिटी (JNU) को देश के सबसे बड़े शिक्षण संस्थानों में से एक माना जाता है. लेकिन पिछले साल फ़रवरी में JNU के छात्रों पर देश विरोधी नारे लगाने के आरोप लगे थे, तब से ये शिक्षण संस्थान किसी न किसी वजह से विवादों में ही रहता है. यहां के छात्रों के बारे में कहा जाता है कि वो राष्ट्रवाद को नहीं मानते हैं. JNU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने सेना के ऊपर भी कुछ आपत्तिजनक आरोप लगाए थे. इन्हीं सब को देखते हुए JNU के वाइस चांसलर एम. जगदीश कुमार ने छात्रों के अन्दर देशभक्ति की भावना भरने के लिए सरकार से कैम्पस के अन्दर सेना का टैंक रखने की मांग की है.

Source: Thequint

रविवार को JNU कैम्पस में 'कारगिल विजय दिवस' के अवसर पर एक कार्यक्रम आयोजित हुआ था. इसी कार्यक्रम में बोलते हुए जगदीश कुमार ने ये मांग रखी.

वीसी जगदीश ने कहा कि हमारे देश के जवानों ने सीमा पर देश की सुरक्षा के लिए अपने प्राणों का बलिदान कर दिया. इसलिए हम जनरल वीके सिंह और प्रधानमंत्री मोदीजी से अनुरोध करते हैं कि कैम्पस के अन्दर एक सेना का टैंक रखवाएं. कैम्पस के अन्दर ये टैंक हज़ारों छात्रों को सेना के बलिदान की याद दिलाएगा.
Source: Abplive

इससे पहले भी जब 9 फ़रवरी को देशविरोधी नारे लगे थे, तब भी कैम्पस के अन्दर सेना का टैंक रखने की बात कही गई थी. लेकिन उस समय छात्र कन्हैया कुमार की गिरफ़्तारी को ज़ोरदार प्रदर्शन कर रहे थे, जिस वजह से इस बात पर ख़ास ध्यान नहीं दिया गया. चूंकि इस बार ये मांग ख़ुद VC ने की है, लिहाज़ा सब लोग इस पर गम्भीरता से चर्चा कर रहे हैं.

Source: Worldoftanks

JNU के इतिहास में पहला मौका था, जब वहां पर 'विजय दिवस' मनाया गया. इस ख़ास कार्यक्रम में सेना के बैंड का प्रदर्शन किया गया. इसके अलावा कारगिल युद्ध में मारे गए सैनिकों के परिवारों को भी सम्मानित किया. इस मौके पर केन्द्रीय मन्त्री धर्मेन्द्र प्रधान, विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह के अलावा क्रिकेटर गौतम गम्भीर भी मौजूद थे.

Article Source: PTI