वैश्विक राजनीति और आपसी मतभेव से परे हटकर देखें, तो आपको पाकिस्तान प्राकृतिक और ऐतिहासिक रूप से ख़ूबसूरत नज़र आएगा. यहां भी घूमने-फिरने और खाने-पीने की कई आकर्षक जगहें मौजूद हैं. विश्व के कई बड़े ट्रैवलर्स व ब्लॉगर्स पाकिस्तान को भी अपनी ट्रैवल लिस्ट का हिस्सा बनाते हैं. लेकिन, इस लेख में हम आपको पाकिस्तान की उन जगहों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें पाकिस्तानी आवाम द्वारा प्रेतवाधित माना गया है. इनमें कुछ ऐतिहासिक स्थल हैं, तो कुछ प्राकृतिक जगहें.  

1. शेखूपुरा फ़ोर्ट

Sheikhupura Fort
Source: dawn

ये ऐतिहासिक क़िला पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मौजूद शेखूपुरा में स्थित है. माना जाता है कि इसका निर्माण मुग़ल बादशाह जहांगीर के शासनकाल के दौरान किया गया था. वहीं, ये कई शासकों और लूटरों के कब्ज़े में भी रहा है. हालांकि, अब ये खंडहर अवस्था में पड़ा है और भूत-प्रेतों का अड्डा भी बन चुका है. इस क़िले के बारे में कहा जाता है कि यहां इतिहास में जो रानियां रही हैं, उनकी आत्मा भटकती हैं. हालांकि, इससे जुड़े सटीक प्रमाण का अभाव है.  

2. मोहाट्टा हाउस  

mohatta palace
Source: architecturalanatomyblog

ये कराची में स्थित एक ऐतिहासिक महल है, जिसका निर्माण 1927 में किया गया था. ये महल एक मारवाड़ी व्यापारी Shivratan Chandraratan Mohatta से संबंध रखता है. इस महल का निर्माण उन्हीं पारंपरिक पत्थरों से किया गया है, जिनका इस्तेमाल राजस्थान के महलों व क़िलों को बनाने के लिए किया गया था. वहीं, माना जाता है कि ये महल भुतहा हो चुका है. यहां के चौकीदारों का मानना है कि यहां उन्हें अंदर कोई चलता हुआ नज़र आता है. इसके अलावा, सुबह महल की बहुत सी चीज़ें अपनी जगह से दूसरी जगह पाई जाती हैं. इन अजीबो-ग़रीब घटनाओं की वजह से ही इसे प्रेतवाधित माना जाता है. 

3. सैफ़-उल-मुलूक झील 

Lake Saiful Muluk
Source: wikipedia

ऐतिहासिक स्थलों के अलावा, पाकिस्तान के कुछ प्राकृतिक स्थल पर भी भूत-प्रेतों का साया है, जिसमें एक नाम सैफ़-उल-मुलूक झील का भी आता है. ये एक पहाड़ी झील है, जो Kaghan Valley के उत्तरी छोर पर स्थित है. स्थानीय मान्यता के अनुसार, झील का नाम किसी राजकुमार के नाम पर रखा गया था, जिसे इस झील में रहने वाली परी से प्यार हो गया था. लेकिन, इन दोनों को किसी दानव ने मार दिया था. वहीं, ऐसा माना जाता है कि बाकी परियों ने इस जगह पर दोनों की मौत का शोक मनाया था और उनके रोने की आवाज़ आज भी सुनी जा सकती है. 

4. कराची का शिरीन सिनेमा घर

cinema house
Source: socialpakora

पाकिस्तान के कराची में मौजूद शिरीन सिनेमा घर भी प्रेतवाधित घटनाओं का शिकार है. कई लोगों का मानना है कि लोगों की ग़ैरमौजूदगी में कई बार यहां अंदर से आवाज़ें सुनी गई हैं और पर्दे पर परछाई देखी गई है. हालांकि, इस बात में कितनी सच्चाई है इसके बारे में सटीक कुछ नहीं कहा जा सकता है.  

5. हैदराबाद का कब्रिस्तान  

graveyard
Source: india

पाकिस्तान के हैरदाबाद में मौजूद एक कब्रिस्तान भी भूतों का अड्डा माना जाता है. इसके बारे में कहा जाता है कि देर रात यहां से गुज़रने वाले प्रेतवाधित घटनाओं का सामना करते हैं. वहीं, चौकीदारों का मानना है कि आधी रात में कब्रिस्तान के अंदर बच्चे खेलते नज़र आते हैं, जो बाद में ग़ायब हो जाते हैं. हालांकि, इस तथ्य से जुड़े सही प्रमाण का अभाव है.