भारत भूमि का इतिहास न सिर्फ़ दिलचस्प है बल्कि रहस्यमयी भी है. अगर आप भारत के अतीत पर सही से नज़र डालेंगे, तो आपके सामने कई चौंका देने वाली चीज़ें सामने आएंगी. इनमें खंडहर में तब्दील हो चुके प्राचीन क़िले भी शामिल हैं. जानकर हैरानी होगी कि अपने रहस्यमयी इतिहास के साथ भारत में कई ऐसे प्राचीन क़िले मौजूद हैं, जिन्हें भुतहा क़रार कर दिया गया है. 

इस कड़ी में हम आपको भारत के एक ऐसे पुराने और खंडहर हो चुके क़िले के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में कहा जाता है कि यहां गढ़े ख़जाने की रक्षा भूतों का झुंड करता है. आइये, जानते हैं इस भुतहा क़िले की पूरी कहानी.  

खंडेराव का क़िला   

khanderao fort
Source: youtube

इस रहस्यमयी क़िले का नाम है खंडेराव फोर्ट. यह मध्य प्रदेश के पोहरी (शिवपुरी) नामक कस्बे में स्थित है. माना जाता है कि यह क़िला 2100 साल पुराना है और यहां कभी वीर खंडेराव का परिवार रहा करता था. वहीं, जानकारों का कहना है कि यह क़िला वीर खंडेराव के बाद से वीरान पड़ा है और वर्षों से यहां रहने कोई नहीं आया.    

वर्षों से था अज्ञात

khanderao fort
Source: patrika

जानकार हैरानी होगी कि मीडिया द्वारा की गई इस पर ख़बरों से पहले इस क़िले के बारे में ज़्यादा लोगों को नहीं पता था. खंडहर में तब्दील हो चुका यह क़िला वर्षों से एक अज्ञात ज़िंदगी जी रहा था. इसके बारे में बस स्थानीय लोगों को ही पता था.   

एक भुतहा क़िला   

haunted
Source: traveltriangle

जानकारों के अनुसार यह एक भुतहा क़िला है और यह आत्माओं की गिरफ़्त में है. शाम ढलते ही क़िले के आसपास कोई नहीं भटकता. वहीं, माना जाता है कि कई लोगों ने यहां रूहानी ताक़तों का भी आभास किया है.     

आती है घुंघरुओं की आवाज़  

ghungroo
Source: hotdeals360

जानकार कहते हैं कि यहां कभी वीर खंडेराव अपने दरबारियों के साथ बैठते थे और नर्तकियां सबका मनोरंजन करती थीं. शायद यही वजह है कि यहां रात के समय भटकती आत्माओं के साथ-साथ घुंघरुओं की आवाज़ें भी सुनी गई हैं. इन्हीं डरावनी चीज़ों की वजह से इस खंडहर किले का डर आज भी स्थानीय लोगों के अंदर बना हुआ है.     

गढ़े ख़जाने की रक्षा  

Treasure image
Source: depositphotos

वहीं, इस क़िले के बारे में यहां तक कहा जाता है कि यहां कोई गढ़ा ख़जाना है, जिसकी रक्षा भूतों का झुंड करता है. वहीं, कुछ बातें ऐसी भी पता चली हैं कि ख़जाने की बात सुनकर यहां कई लोगों ने खुदाई करने की कोशिश की, पर जिसने भी यह प्रयास किया वो अपना होश हवास खो बैठा. हालांकि, इन बातों में कितनी सच्चाई है इसका सटीक प्रमाण मौजूद नहीं है.

कभी खुला था स्कूल  

khanderao fort
Source: youtube

कहा जाता है कि कई लोगों ने हिम्मत करके यहां एक स्कूल खोला था, लेकिन एक छात्र की मृत्यु और अजीबो-ग़रीब हादसों की वजह से स्कूल बंद करा दिया गया. वहीं, इस स्कूल को लेकर कुछ जानकार कहते हैं कि कभी-सभी एक ख़ास कमरे में क्लास के दौरान एक कटा हुआ हाथ अचानक से आकर फैल जाता था.