भारत (India) क्षेत्रफ़ल की दृष्टि से विश्‍व का 7वां सबसे बड़ा देश है. भारत की भौगोलिक स्थिति एशिया के अन्य देशों से एकदम अलग है. उत्तर में हिमालय पर्वत, पूर्व में बंगाल की खाड़ी, पश्चिम में अरब सागर और दक्षिण में हिन्‍द महासागर भारत की सीमा निर्धारित करते हैं. देश की उत्तर से दक्षिण तक की अधिकतम लंबाई 3,214 किलोमीटर और पूर्व से पश्चिम तक की अधिकतम चौड़ाई 2,933 किलोमीटर है.

Source: quora

भारत की ज़मीनी सीमाओं की लंबाई लगभग 15,200 किलोमीटर है. जबकि मुख्‍यभूमि, लक्षद्वीप और अण्‍डमान तथा निकोबार द्वीपसमूह की तटरेखा की कुल लम्‍बाई 7,516.6 किलोमीटर है.

बता दें कि साल 2019 में जम्मू-कश्मीर से अलग होकर लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश बना था. इससे पहले ये कश्मीर रीजन में आता था. इसी के साथ ही अब 'कश्मीर से कन्याकुमारी' की सबसे अधिक दूरी वाला चैप्टर भी समाप्त हो गया है, क्योंकि अब लद्दाख, जम्मू-कश्मीर का हिस्सा नहीं है. 

Source: wikipedia

ये भी पढ़ें- भारतीय इतिहास के वो 5 शासक, जिन्होंने अर्थव्यवस्था को नई ऊंचाइयों पर पहुंचा दिया था

भारत में आज भी अधिकांश लोग 'कश्मीर से कन्याकुमारी' के बीच की दूरी को सबसे अधिक मानते हैं, लेकिन अब इसमें बदलाव हो गया है. भारत में अब 'सियाचिन ग्लेशियर' और 'अंडमान निकोबार' की बीच की दूरी सबसे अधिक है. सियाचिन हिमालय में पूर्वी 'काराकोरम रेंज' में स्थित एक ग्लेशियर है, जबकि ग्रेट निकोबार द्वीप दक्षिण में स्थित है.

Source: quora

भारत का सबसे उत्तरी बिंदु सियाचिन के काराकोरम रेंज में स्थित इंदिरा कोल है, जबकि सबसे दक्षिणी बिंदु अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में स्थित इंदिरा पॉइंट है. सियाचिन का इंदिरा कोल 5,764 मीटर या 18,911 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है. इस क्षेत्र में दो कोल हैं, एक पूर्वी है और दूसरा पश्चिमी. इंदिरा कोल वेस्ट का नाम सन 1912 में Bullock Workman ने देवी लक्ष्मी के नाम पर रखा था.

आज भी बहुत लोग इसी ग़लतफ़हमी में रहते हैं कि 'कश्मीर से कन्याकुमारी' की दूरी सबसे अधिक है, लेकिन अब ये दूरी बदल चुकी है.

'इंदिरा कोल ईस्ट' और 'इंदिरा पॉइंट' की बीच की दूरी   

भारत में अब उत्तर में लद्दाख स्थित 'सियाचीन ग्लेशियर' का 'इंदिरा कोल ईस्ट' और दक्षिण में अंडमान निकोबार के ग्रेट निकोबार द्वीप में स्थित 'इंदिरा पॉइंट' दो सबसे दूरस्थ स्थान हैं. इन दोनों स्थानों की बीच की दूरी (सीधी रेखा) 3685 किलोमीटर है. जबकि 'कश्मीर से कन्याकुमारी' की दूरी 3676 किलोमीटर हुआ करती थी.

Source: quora

भारत के सबसे लम्बे रेल मार्ग की बात करें तो असम के 'डिब्रूगढ़ से कन्याकुमारी' के बीच चलने वाली 'विवेक एक्सप्रेस' 82.30 घंटों में 56 स्टॉप के साथ 4,286 किमी की दूरी का सफ़र तय करती है.